India Book Of Records: वेस्ट आऊट ऑफ बेस्ट के कार्यों को प्रशंसा के साथ मान्यता, अब इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज हुआ नेहा का नाम

India Book Of Records: वेस्ट आऊट ऑफ बेस्ट के कार्यों को प्रशंसा के साथ मान्यता, अब इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज हुआ नेहा का नाम

India Book Of Records : (बैतूल)। नगर पालिका परिषद बैतूल की स्वच्छता ब्रांड एम्बेसडर श्रीमती नेहा गर्ग को वेस्ट आऊट ऑफ बेस्ट की अवधारणा पर किए गए कार्यों और बनाए गए मॉडल्स को लेकर इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स ने भी प्रोत्साहित किया है। इस संबंध में इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स द्वारा अवार्ड और प्रशस्ति पत्र दिया गया। इस प्रशिस्त पत्र में श्रीमती नेहा गर्ग के द्वारा दुबई में आयोजित इंटरनेशनल ग्लोबल फेस्टिवल में भारत सरकार की ओर से शामिल होने का भी उल्लेख है।

गौरतलब है कि श्रीमती नेहा गर्ग विगत दो वर्षों 2020-21 एवं 2021-23 से नगर पालिका परिषद बैतूल की स्वच्छता ब्रांड एम्बेसडर हैं। श्रीमती गर्ग और उनकी टीम के द्वारा बनाए गई कबाड़ की सामग्री का उपयोग कर विभिन्न कलाकृतियां बनाई है जो शहर के विभिन्न स्थानों पर नगर पालिका परिषद द्वारा लगाई गई है। इनमें हाथी, चिड़िया, ईगल, मछली, शेर, कछुआ, बिच्छू, गाय, वॉच, गिटार, मोर आदि शामिल है।

India Book Of Records: स्ट आऊट ऑफ बेस्ट के कार्यों को प्रशंसा के साथ मान्यता, अब इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज हुआ नेहा का नामइसके अलावा श्रीमती गर्ग ने अपने निवास पर घर में अनुपयोगी सामग्री और कबाड़ का उपयोग कर विशाल उद्यान भी बनाया है। जिसको लेकर कई शालाओं और कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने भ्रमण कार्यक्रम के देखा और सराहना भी की। इसके अलावा बालाजी इंजीनियरिंग कालेज के स्टूडेंट को बेस्ट आऊट ऑफ वेस्ट पर अवधारणा पर आयोजित कार्यशाला में संबोधित करते हुए उन्हें भी अनुपयोगी चीजों के उपयोग करने के तरीके बताए थे।

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि श्रीमती नेहा गर्ग द्वारा वेस्ट टू वेल्थ की अवधारणा पर किए इन कार्यों को लेकर मध्यप्रदेश के तत्कालीन नगरीय निकाय कमिश्रर आईएएस निकुंज कुमार श्रीवास्तव ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर लिखा था कि स्वच्छता की असली हीरो- बैतूल में मेरी मुलाकात स्वच्छता की ब्रांड एम्बेसडर नेहा गर्ग से हुई। नेहा गर्ग कलाकार हैं और यह वेस्ट टू वेल्थ की अवधारणा पर आपके कार्य प्रेरणादायी है। नेहा गर्ग के साथ सीएमओ और उनकी टीम को भी बधाई। एक अन्य पोस्ट में श्री श्रीवास्तव ने लिखा था कि आपने अपनी कला के माध्यम से बैतूल शहर के 2 टन कचरे को कबाड़ से जुगाड़ कांसेप्ट पर शहर के आकर्षक स्थल में परिवर्तित कर दिया। नेहा जैसे कलाकारों को मेरा नमस्कार। और इसके साथ ही नेहा गर्ग और उनकी टीम द्वारा बनाई गई सभी कलाकृतियों के फोटो भी अपनी पोस्ट के साथ शेयर किए।

India Book Of Records: स्ट आऊट ऑफ बेस्ट के कार्यों को प्रशंसा के साथ मान्यता, अब इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज हुआ नेहा का नामइसके अलावा भारत सरकार के आवास मंत्रालय के स्वच्छ भारत अर्बन द्वारा भी नेहा गर्ग की कबाड़ से बनाई गई मोर की कलाकृति की भी सोशल मीडिया पर सराहना की। और उल्लेख किया कि इससे लोगों को अच्छा संदेश गया है। साथ ही मोर की फोटो भी शेयर की।

राज्य स्तर पर देश के प्रसिद्ध न्यूज चैनल टीवी 18 (नेटवर्क 18) द्वारा भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में राज्य स्तरीय नारायणी अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। इसी तरह से जिला स्तर पर श्रीमती नेहा गर्ग को कई संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया जा चुका है जिनमें लायंस क्लब इंटरनेशनल द्वारा आद्याशक्ति सम्मान, सांस्कृतिक सेवा समिति द्वारा मणिकर्णिका सम्मान, सेवा शांति ब्लड बैंक बैतूल द्वारा प्रशिस्त पत्र, महावीर इंटरनेशनल बैतूल संकल्प द्वारा सेवा कार्यों और उपलब्धि के लिए सम्मान पत्र, नगर पालिका परिषद बैतूल द्वारा विशेष योगदान हेतु प्रशिस्त पत्र, जिला प्रशासन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया जा चुका है। बैतूल शहर की स्वच्छ रैंकिंग हेतु लगभग 2 टन कचरे का निपटान कर कबाड़ से कलाकृतियों का निर्माण किए जाने के उपलक्ष्य में नगरपालिका बैतूल ने सम्मानित किया है। सम्मान पत्र में इन कलाकृतियों को बैतूल के प्रमुख चौक-चौराहों पर प्रदर्शित किए जाने का भी उल्लेख है।