बैतूल अपडेट

MP Election 2023 : सुबह तक जेएच कॉलेज पहुंची विस से ईवीएम, स्ट्रांग रूम में कैद, चौबीस घंटे रहेगी सशस्त्र जवानों की निगरानी में

Betul Election News, betul ka chunav, betul ki khabar, betul latest news, Betul news, betul samachar, betul update, MP Election 2023, Vidhansabha Chunav

MP Election 2023 : सुबह तक जेएच कॉलेज पहुंची विस से ईवीएम, स्ट्रांग रूम में कैद, चौबीस घंटे रहेगी सशस्त्र जवानों की निगरानी में
MP Election 2023 : सुबह तक जेएच कॉलेज पहुंची विस से ईवीएम, स्ट्रांग रूम में कैद, चौबीस घंटे रहेगी सशस्त्र जवानों की निगरानी में

MP Election 2023 : बैतूल। विधानसभा चुनाव का मतदान शुक्रवार शाम 6 बजे खत्म होने के बाद ईवीएम मशीनें जमा किए जाने का कार्य शुरू कर दिया गया था। जिले की पांचों विधानसभाओं की पोलिंग पार्टियां रात्रि में ही जेएच कॉलेज में बनाए गए स्ट्रांग रूम में पहुंचनी शुरू हो गई थी। इसके ठीक पहले कलेक्टर एवं मुख्य जिला निर्वाचन अधिकारी, प्रेक्षकों और पुलिस अधीक्षक ने स्ट्रांग रूम का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। तमाम व्यवस्थाएं चाक चौबंद होने के बाद नियमानुसार ईवीएम मशीनें जमा किए जाने का काम शुरू कर दिया गया था।

रातभर मशीनें जमा करने का काम चलता रहा जो सुबह 9 बजे खत्म हुआ। इसके पश्चात अधिकारियों की मौजूदगी में स्ट्रांग रूम सील करने की कार्यवाही की गई कर सशस्त्र गार्ड भी तैनात कर दिए गए हैं। अब स्ट्रांग रूम 3 दिसंबर की सुबह खोला जाएगा जिसके बाद मतगणना शुरू की जाएगी। जेएच कालेज के सभागृह को ईवीएम के लिए स्ट्रांग रूम बनाया गया है।

यहां पर बारी-बारी से चौबीस घंटे सशस्त्र जवान तैनात रहेंगे। यह सिलसिला 3 दिसंबर की सुबह तक जारी रहेगा। स्ट्रांग रूम के आसपास भी दीवार के ऊपर तक खड़े कर दिए। इसके अलावा स्ट्रांग रूम की छत पर भी चौबीस घंटे सशस्त्र जवान तैनात किए गए हैं।

रात भर चलता रहा पोलिंग पार्टियों का आना जाना

प्राप्त जानकारी के मुताबिक सबसे पहले बैतूल विधानसभा के उन पोलिंग बूथों की ईवीएम मशीनें स्ट्रांग रूम पहुंचनी शुरू हुई, जिन पर मतदाताओं की संख्या कम थी। समय पूरा होने के पूर्व ही पोलिंग खत्म होने के बाद मौके पर आवश्यक कार्यवाही कर ईवीएम मशीनें  स्ट्रांग रूम पहुंचाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। रात भर पोलिंग पार्टियों के जेएच कॉलेज पहुंचने का सिलसिला चलता रहा। सुबह 9 बजे तक जिले की पांचों विधानसभाओं की ईवीएम स्ट्रांग रूम में जमा करवाकर पोलिंग पार्टियां लौट गई थी।

निर्वाचन में लगे लगभग 10 हजार कर्मचारी, 1581 बूथों पर थी तैनाती

जिले की पांचों विधानसभाओं में निर्वाचन कार्य सम्पन्न कराए जाने के लिए लगभग 10 हजार कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई थी। इनमें प्रेक्षकों से लेकर पीठासीन अधिकारी  सहित अन्य निर्वाचन कार्यों में कर्मचारियों को दायित्व सौंपा गया था। इसके अलावा सुरक्षा बंदोबस्त में बाहर से बुलाए गए बल सहित लगभग 6 हजार सुरक्षाकर्मियों को बूथ सहित गश्ती, और निगरानी के कार्य सौंपे गए थे। पूरे 15 दिनों के अथक प्रयास के साथ ही 17 नवम्बर को मतदान सम्पन्न कराया जा सका।

1581बूथों पर मतदान के लिए 867 वाहनों का किया था अधिग्रहण

जिले की पांचों विधानसभाओं में पूर्ण शांति और सद्भाव के साथ मतदान सम्पन्न कराया गया। पांचों विधानसभाओं में बनाए गए 1581 बूथों पर मतदान निर्विध्न सम्पन्न कराए जाने के लिए कुल 867 वाहनों का अधिग्रहण किया गया था। इनमें कार, जीप के अलावा पोलिंग पार्टियों को ले जाने और लाने के लिए यात्री बसों के साथ-साथ सामग्री लाने के लिए ट्रकों की व्यवस्था भी की गई थी। कुल मिलाकर अब पांचों विधान सभाओं के प्रत्याशियों के भाग्य ईवीएम में कैद होकर स्ट्रांग रूम पहुंच चुका है, जिनके भाग्य का फैसला अब 3 दिसम्बर को होगा।

Related Articles

Back to top button