हादसे में घायलों को अस्पताल पहुंचाने पर हो सकते हैं मालामाल

सड़क परिवहन मंत्रालय ने लागू की प्रोत्साहन अवार्ड योजना, यह हैं प्रावधान

0

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को गोल्डन अवर में अस्पताल पहुंचा कर एक ओर जहां आप अपनी संवेदनशीलता व दयाभाव प्रदर्शित कर सकते हैं वहीं अब आपका यह स्वाभाव आपको हजारों रुपये का ईनाम भी दिलवा सकता है। दरअसल, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा मोटरयान सड़क दुर्घटनाओं में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को गोल्डन अवर में अस्पताल या ट्रामा केयर सेंटर पहुंचा कर उनकी जिंदगी बचाने वाले व्यक्ति को प्रोत्साहन देने के लिए प्रोत्साहन अवार्ड योजना लागू की है। इस योजना के अन्तर्गत 5 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। यही नहीं यदि प्रकरण राष्ट्रीय स्तर पर चयनित होता है तो एक लाख का पुरस्कार भी प्राप्त हो सकता है।

    यह भी पढ़ें… हाइवे पर हादसा: रेत के डंपर ने मारी बस को टक्कर

    योजना के प्रावधानों के अनुसार सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को गुड सेमेरिटन (नेक व्यक्ति) द्वारा सीधा अस्पताल या ट्रामा केयर सेंटर ले जाया जाता है तो उस व्यक्ति के बारे में डॉक्टर द्वारा स्थानीय पुलिस में सूचित किया जाएगा। पुलिस द्वारा गुड सेमेरिटन का पूर्ण पता, घटना का विवरण, मोबाईल नंबर इत्यादि एक अधिकृत लेटर पैड पर निर्धारित प्रारूप में लेख किया जाकर एक प्रति गुड सेमेरिटन को दी जाएगी एवं एक प्रति जिला अप्रेजल कमेटी को भेजी जाएगी।

    यह भी पढ़ें… एक और हादसा: ट्रक पलटा, महिला की मौत, ड्राइवर गंभीर

    यह कमेटी करेगी ईनाम देने का निर्णय
    उक्त प्रकरणों को परीक्षण करने के लिए जिला स्तर पर जिला कलेक्टर बैतूल की अध्यक्षता में एक जिला अप्रेजल कमेठी गठित की गई है। इसमें पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं जिला परिवहन अधिकारी सदस्य हैं, जो दुर्घटना में गंभीर घायल व्यक्ति को गोल्डन अवर में अस्पताल या ट्रामा केयर सेंटर ले जाने वाले गुड सेमेरिटन को नकद प्रोत्साहन राशि एवं प्रशस्ति पत्र दिया जाकर प्रोत्साहित करेंगे। कोई भी व्यक्ति जो सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को गोल्डन अवर में अस्पताल/ट्रामा केयर सेंटर में तत्परता से पहुंचाकर जान बचाते हैं, वे सभी इस अवार्ड के पात्र होंगे।

    यह भी पढ़ें… नरखेड़ हादसा: मासूम बच्ची समेत 6 लोगों की मौत, 16 घायल

    यह माने जाएंगे गंभीर रूप से घायल
    गंभीर घायल व्यक्ति की श्रेणी में वे लोग रखे जाएंगे जिन्हें बड़ी शल्य चिकित्सा की जरुरत हो, 3 दिन से अधिक की अवधि तक अस्पताल में भर्ती हो या ब्रेन इंजरी या रीढ की हड्डी की इंजरी हो। यदि एक दुर्घटना में एक से अधिक गुड सेमेरिटन द्वारा एक व्यक्ति की जान बचाता है तो प्रोत्साहन राशि समान रूप में दी जाएगी। जिला अप्रेजल कमेटी द्वारा पुलिस थाना, अस्पताल या ट्रामा केयर सेंटर द्वारा जानकारी प्राप्त होने पर प्रकरणों की समीक्षा कर गुड सेमेरिटन अवार्ड प्रदाय हेतु निर्णय लिया जाएगा। चयनित प्रकरणों की सूची को राज्य परिवहन आयुक्त को भेजा जाएगा। राज्य परिवहन आयुक्त द्वारा सीधे गुड सेमेरिटन के खाते में चेक से प्रोत्साहन राशि जमा कर दी जाएगी।

    यह भी पढ़ें… बेलगाम कार ने मारी टक्कर, हाइवे पर बिजली कर्मी की मौत

    तीन सर्वोच्च प्रकरणों में मिलेगी इतनी राशि
    परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा राज्यों के उत्कृष्ट 3-3 प्रकरणों को प्राप्त कर समीक्षा करने के उपरांत इनमें से सर्वोच्च 10 प्रकरणों को मंत्रालय द्वारा चयनित किया जाकर 100000 रुपये एवं प्रशस्ति पत्र तथा एक ट्राफी परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय नई दिल्ली में दी जाएगी। यह योजना 15 अक्टूबर 2021 से लागू है। इस प्रकार एक गुड सैमेटेरियन को वर्ष में अधिकतम 5 प्रकरणों में अवार्ड दिया जा सकेगा। इस अवार्ड प्रदाय की खर्च होने वाली समस्त राशि परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा वहन की जाएगी।

    यह भी पढ़ें… ट्रक और बाइक में जबरदस्त टक्कर, गंभीर रूप से घायल हुआ ग्रामीण

  • Leave A Reply

    Your email address will not be published.

    ब्रेकिंग
    Aaj Ka Rashifal 26 February 2024 : आज इन राशियों का चमकेगा भाग्य, पूरे होंगे अधूरे काम, इन्हें संभल ...Betul Crime News : हंसी-मजाक में विवाद, बुजुर्ग का कुल्हाड़ी से काट दिया गला; सड़क हादसों में 2 की मौतSudarshan Bridge Gujrat : शुरू हुआ भारत का सबसे लंबा केबल ब्रिज, 2.32 किमी. है लंबा, तस्वीरें मोह ले...Mahakal Bhajan: घर में सुख समृद्धि के लिए आज के दिन सुने महादेव का ये भजन 'हम भी बोले महाकाल'....Viral Video: चंद मिनटों में पैक कर दी महिला ने कई साइकिलें, वायरल वीडियो देख लोग हुए ShockedUPSC Success Story : सीखने की चाहत ने पहुंचाया IAS के पद तक, पहले ही कोशिश में हासिल की 19वीं रैंक, ...Viral Jokes : गणित की में टीचर ने पूछा- बताओ 1000 किलो= एक टन, तो 3000 किलो कितना होगा? पप्पू....Solar Rooftop Scheme: 1 करोड़ परिवार को ऐसे मिलेगी 300 यूनिट मुफ्त बिजली, जानिए कैसे करें आवेदन....Loksabha Election 2024: लोकसभा चुनाव प्रभारियों की सूची जारी, MP में इन्हें दी जिम्मेदारीKabira Mobility Electric Bike : इस भारतीय कंपनी ने निकाला ओला का दम, ये बाइक एक चार्ज में चलती हैं प...