यूथ अपडेट

UPSC Success Story : सीखने की चाहत ने पहुंचाया IAS के पद तक, पहले ही कोशिश में हासिल की 19वीं रैंक, बताया कैसे की थी तैयारी

UPSC Success Story : यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में हर साल लाखों की संख्या में उम्मीदवार उपस्थित होते हैं। इस परीक्षा की यात्रा शुरू करना कोई छोटी उपलब्धि नहीं है, बल्कि कई कठिन परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है साथ ही धैर्य रखना बहुत जरूरी होता है। इस परीक्षा में सफल होने का सपना लाखों लोग देखते है लेकिन कुछ ही लोग इस सपने को पूरा कर पाते है। यूपीएससी क्रैक करने के लिए लोग कोचिंग और टेस्ट सीरीज का सहारा लेते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी होनहार अभ्यर्थी हैं, जिन्होंने अपने पहले ही प्रयास में बिना कोचिंग के यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल की है।

ऐसा ही एक हमारे सामने उदाहरण है लघिमा तिवारी का, जिन्होंने 2022 में आयोजित यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में ऑल इंडिया 19वीं रैंक हासिल की और आईएएस अधिकारी बनीं। लघिमा ने यूट्यूब पर टॉपर्स के इंटरव्यू देखकर अपनी तैयारी की और टेस्ट सीरीज और सेल्फ स्टडी का जमकर फायदा उठाया और अपने पहले ही प्रयास में सफलता हासिल कर आईएएस बनीं।

UPSC Success Story : सीखने की चाहत ने पहुंचाया IAS के पद तक, पहले ही कोशिश में हासिल की 19वीं रैंक, बताया कैसे की थी तैयारी
UPSC Success Story : सीखने की चाहत ने पहुंचाया IAS के पद तक, पहले ही कोशिश में हासिल की 19वीं रैंक, बताया कैसे की थी तैयारी

लघिमा का परिचय और शिक्षा (UPSC Success Story)

लघिमा का परिचय लघिमा राजस्थान के अलवर जिले की रहने वाली हैं। उनके पिता एक व्यापारी हैं और माता एक शिक्षिका हैं। उन्होंने अपनी 10वीं और 12वीं की पढ़ाई अलवर से की है। उन्होंने दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग की ग्रेजुएशन की है। उन्होंने यूपीएससी मेंस परीक्षा के लिए मानवविज्ञान को अपना वैकल्पिक विषय चुना है।

बिना कोचिंग की यूपीएससी की तैयारी

लघिमा की तैयारी का तरीका लघिमा ने अपनी तैयारी के लिए किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट का सहारा नहीं लिया। उन्होंने यूट्यूब पर टॉपर्स के इंटरव्यू देखकर अपने लिए एक रणनीति बनाई। लघिमा ने स्टेटिक पार्ट, बेसिक जीएस और करंट अफेयर्स को अच्छी तरह से कवर किया। साथ ही टेस्ट सीरीज और मॉक टेस्ट का जमकर फायदा उठाया। अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट को भी ध्यान से पढ़ा और लिखा। उन्होंने अपने इंटरव्यू के लिए भी अच्छी तरह से तैयारी की।

UPSC Success Story : सीखने की चाहत ने पहुंचाया IAS के पद तक, पहले ही कोशिश में हासिल की 19वीं रैंक, बताया कैसे की थी तैयारी
UPSC Success Story : सीखने की चाहत ने पहुंचाया IAS के पद तक, पहले ही कोशिश में हासिल की 19वीं रैंक, बताया कैसे की थी तैयारी

कड़ी मेहनत का प्रतीक है लघिमा (UPSC Success Story)

अलवर से सफलता तक का सफर दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग की डिग्री के साथ, लघिमा ने अपने पहले ही प्रयास में यूपीएससी सीएसई 2022 में अखिल भारतीय रैंक 19 हासिल करके इतिहास रच दिया। राजस्थान के सुरम्य शहर अलवर से आने वाली लघिमा दृढ़ता और कड़ी मेहनत के गुणों का प्रतीक है। 2021 में स्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद, उन्होंने पारंपरिक कोचिंग को छोड़कर यूपीएससी की तैयारी के लिए स्व-निर्देशित दृष्टिकोण अपनाया।

लघिमा ने उम्‍मीदवारों को दिए टिप्स (UPSC Success Story)

लघिमा ने उम्मीदवारों को दृढ़ संकल्प और निरंतरता का मंत्र दिया है। उन्होंने कहा है कि चाहे कितने भी घंटे पढ़ें, लेकिन लगातार प्रयास करते रहें। उन्होंने उम्मीदवारों से पहले से ही अपनी तैयारी की रणनीति बनाने का आग्रह किया है। उन्होंने उम्मीदवारों को अपनी स्ट्रेंथ और वीकनेस को पहचानने का सुझाव दिया है।

देश-दुनिया की ताजा ख़बरें (Hindi News) अब हिंदी में पढ़ें | Trending खबरों के लिए जुड़े रहे betulupdate.com से | आज की ताजा खबरों (Latest Hindi News) के लिए सर्च करें betulupdate.com

“बैतूल अपडेट” व्हाट्सएप चैनल से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें 👇

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button