MP Kisan App : अब किसानों को घर बैठे मिलेगा योजनाओं का लाभ, बस करना होगा यह काम

MP Kisan App : बैतूल। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी नरेन्द्र कुमार सूर्यवंशी ने बताया कि किसान अब शासकीय योजनाओं का लाभ कहीं से भी और कहीं पर भी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की मंशा के अनुरूप किसानों के हित में सरकार नित नए नवाचार कर रही है।

इसी अनुक्रम में किसान शासकीय योजनाओं का लाभ घर बैठे प्राप्त कर सकते है। योजनाओं का लाभ लेने के लिए कृषक घर बैठे ही आवेदन कर सकते है। किसान अपना आवेदन बीज एवं सूक्ष्म पोषक तत्व, पाइपलाइन, स्प्रिंकलर, ड्रिप प्रदर्शन के लिए कर सकेंगे।

यहां से करें एप डाउनलोड (MP Kisan App)

उप संचालक कृषि आनंद कुमार बड़ोनिया ने बताया कि अब किसान उनके एंड्रॉयड मोबाइल पर ही एमपी किसान एप के माध्यम से स्वयं अपने घर बैठे पंजीयन या आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए किसान को गूगल प्ले स्टोर से एमपी किसान एप 2.5.9 वर्जन डाउनलोड करके कृषि विभाग की जिस भी योजना का जिस भी घटक का लाभ लेना चाहते हैं, उसका आवेदन स्वयं घर पर अपना पंजीयन कर सकता है।

नीचे दी गई लिंक से यह एप डाउनलोड किया जा सकता है…⇓

https://play.google.com/store/apps/details?id=in.gov.mapit.kisanapp

अधिकारियों को निर्देश जारी (MP Kisan App)

आयुक्त, किसान कल्याण तथा कृषि विकास मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा बताया गया कि कृषि विभाग में संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ अब कृषक ऑनलाइन ही ले सकते हैं। इस सबंध में प्रदेश के समस्त मैदानी कर्मचारियों एवं अधिकारियों को निर्देश जारी किये गये हैं।

इस तरह मिलेगा लाभ (MP Kisan App)

कृषक का आवेदन क्षेत्र के कृषि विस्तार अधिकारी के पास ऑनलाइन दिखने लगेगा। कृषि विस्तार अधिकारी आवेदन को स्वीकृत कर देगा तो वह आवेदन स्वयं ही विकासखण्ड स्तरीय वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के पास ऑनलाइन पहुंच जाएगा। स्वीकृति उपरांत कृषक को कृषि विभाग की योजनाओं का लाभ मिल जाएगा।

डाउनलोड करवाने के निर्देश (MP Kisan App)

उप संचालक कृषि द्वारा बैतूल जिले के समस्त मैदानी अमले को निर्देशित किया गया है कि कृषि विभागीय योजनाओं का लाभ हर किसान तक पहुंचाने के लिए कृषकों को ऐप डाउनलोड कराए तथा ऑनलाइन आवेदन कराकर पोर्टल पर पंजीयन कराएं।

समस्या होने पर करें संपर्क (MP Kisan App)

किसान स्वयं ही एमपी किसान एप डाउनलोड करें, समस्या आती है तो अपने क्षेत्र के कृषि विभाग के कृषि विस्तार अधिकारी से संपर्क करें, जो आपकी समस्या को हल करने के लिए हर समय उपलब्ध रहेंगे।

Leave a Comment