फर्जी आईडी से विधायक को कर रहे थे बदनाम, अब होगी एफआईआर

विधायक निलय डागा
  • उत्तम मालवीय, बैतूल ©9425003881
    फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर बैतूल के कांग्रेस विधायक निलय डागा के खिलाफ अपमानजनक पोस्ट डालने के मामले में भाजपा गंज मंडल के अध्यक्ष विकास मिश्रा और विनय पवार के खिलाफ न्यायालय ने तत्काल अपराध पंजीबद्ध करने के आदेश जारी किए हैं। हालांकि इस मामले में पुलिस द्वारा विधि विशेषज्ञों से मार्गदर्शन मांगा गया है।
    मंडल अध्यक्ष विकास मिश्रा

    अधिवक्ता अंशुल गर्ग ने बताया कि उनके पक्षकार विधायक निलय डागा के खिलाफ अनुज पंवार नाम की फेसबुक आईडी से अपमानजनक पोस्ट डाली जा रही थी। इसको लेकर श्री डागा ने शिकायत की थी और पुलिस ने इस मामले में जांच की जिसमें पाया गया कि मोबाइल क्रमांक 9425002257 एवं 9200002257 से अनुज पवार व्यक्ति के नाम की फेसबुक आईडी बनाई गई जो कि पूर्ण रूप से फर्जी थी एवं जो फोटोग्राफ्स लगाए गए थे, वे जम्मू कश्मीर के किसी व्यक्ति के थे। जो फर्जी आईडी बनाई गई थी, उसमें अभियुक्त विकास द्वारा आवेदक के विरूद्ध अत्यधिक अपमानजनक पोस्ट डाले जाते थे। जितनी भी पोस्ट विकास मिश्रा द्वारा डाली गई वह असत्य एवं अपमानजनक होती थी। इसी कारण से विकास मिश्रा द्वारा अनुज पवार के नाम से फेसबुक आईडी बनाई गई जो कि वह अपने ही फोन से ऑपरेट करते थे एवं पोस्ट में टैग किया गया था। इसकी शिकायत श्री डागा ने पुलिस में की थी।
    इस नंबर से क्रिएट हुई थी फेसबुक आईडी
    पुलिस द्वारा जब उक्त जांच फेसबुक के हेडक्वार्टर से की गई तो अनुज पवार के नाम से की जा रही आईडी को फोन नंबर 9425002257 से क्रिएट करना और उसी नंबर से आईपी एड्रेस होने के तथ्य सामने आए। इस मामले की सुनवाई के बाद 21 अक्टूबर 2021 को न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सुश्री पूर्वी तिवारी ने आदेश करते हुए पुलिस थाना बैतूल के भारसाधक अधिकारी को निर्देशित किया है कि मामला संज्ञेय प्रकृति का है। अत: अपराध पंजीबद्ध करें, उचित रीति से अनुसंधान करें तथा अंतिम प्रतिवेदन बिना विलंब के प्रस्तुत करें। अपराध पंजीबद्ध करने के बाद प्रथम सूचना प्रतिवेदन की प्रतिलिपि तत्काल इस न्यायालय को भेजें।

    इस मामले में जांच चल रही है। चूंकि मामला गंभीर है। इसलिए इसमें विधि विशेषज्ञों की सलाह ली जा रही है।
    रत्नाकर हिंगवे, टीआई, कोतवाली, बैतूल

  • Leave a Comment