ओह… सरकारी राशन बांट कर सांसद को मनाना पड़ा जन्मदिन, फ्लेक्स लगे ना बैनर

  • उत्तम मालवीय (9425003881)
    बैतूल।
    लाखों वोटों से जीते जिले के सबसे बड़े जनप्रतिनिधि का जन्मदिन जिस अंदाज में मनना चाहिए उस अंदाज की आज कहीं एक झलक तक नजर नहीं आई। यूं तो दिन भर सेवा कार्य चलते रहे, लेकिन एक बड़े नेता का जन्मदिन जिस ‘मेगा इवेंट’ के रूप में मनाया जाना चाहिए, वैसा नहीं मन पाना लोगों को बड़ा खटक रहा है। गौरतलब है कि आज बैतूल-हरदा-हरसूद संसदीय क्षेत्र के सांसद डीडी उइके का जन्मदिन है। उनके खास समर्थकों ने वैसे तो अपने स्तर पर कई कार्यक्रमों का आयोजन कर उनका जन्मोत्सव मनाया, लेकिन एक दिग्गज राजनेता का जिस अंदाज में जन्मदिन मनना चाहिए, उस तरह भव्यता के साथ नहीं मन पाया। अमूमन होता यही है कि राजनेताओं के जन्मदिन की तैयारी कई दिन पहले से ही शुरू हो जाती है और उनके समर्थक शहर और पूरे क्षेत्र को होर्डिंग्स, बैनर, स्वागत द्वार और अखबारों को बधाई संदेश के विज्ञापनों से पाट देते हैं, लेकिन आज ऐसा कहीं भी नजर नहीं आया। सोशल मीडिया पर जरुर उनके समर्थकों व शुभचिंतकों ने उन्हें जन्मदिन पर बधाइयां प्रेषित की, लेकिन न तो शहर में कहीं कोई फ्लेक्स या बैनर नजर आया और न ही अखबारों में जन्मदिन के विज्ञापन ही नजर आए। स्वयं सांसद श्री उइके को रैन बसेरा और सदर क्षेत्र में सरकारी राशन की मोदी किट बांट कर ही जन्मदिन के आयोजन की रस्म अदायगी करना पड़ा। उनके जन्मदिन को मेगा इवेंट बनाने की ना तो पार्टी ने कोई कोशिश की और ना ही उनके समर्थकों ने। यहां तक कि जन्मदिन के उपलक्ष्य में दिन भर हुए कार्यक्रमों का कोई आधिकारिक प्रेस नोट तक जारी नहीं हो पाया। इसके विपरीत कुछ ही दिन पहले पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल का जन्मदिन था तो शहर का नजारा ही कुछ जुदा था। पूरा शहर एक दिन पहले से ही फ्लेक्स और बैनरों से पटा था वहीं अखबारों में विज्ञापनों के जरिए उन्हें बधाई देने वालों का भी तांता लगा था। उनके कई समर्थकों की तो यह हालत थी कि उन्होंने फ्लेक्स बनाकर रखे थे, लेकिन लगाने के लिए जगह नहीं मिल पाई। लोगों को उम्मीद थी कि लाखों वोटों से जीते वर्तमान सांसद श्री उइके का जन्मदिन भी कुछ उसी अंदाज में मनेगा, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। यहां तक कि सांसद के खासमखास कहे जाने वाले कुछ लोगों ने भी महज सोशल मीडिया पर बधाई देकर औपचारिकता पूरी कर ली। यही सब देख कर लोग दिन भर तरह-तरह के कयास लगाते रहे। देश-प्रदेश में कोई बड़ी घटना-दुर्घटना होने या आपदा-विपदा आने पर कई बार राजनेता ही अपने समर्थकों से अपील कर देते हैं कि वे कहीं फ्लेक्स-बैनर न लगाएं और न ही अखबारों में बधाई संदेश दें, लेकिन ना तो फिलहाल ऐसा कुछ है और ना ही सांसद श्री उइके द्वारा ऐसी कोई अपील किए जाने की जानकारी है। इसके बावजूद लाखों वोटों से जीत हासिल कर सांसद बने लोकप्रिय राजनेता श्री उइके का सूना-सूना सा मना जन्मदिन भी लोगों के बीच चर्चा का विषय बना है और लोग पुराने दिन याद करने लगे हैं।

  • Leave a Comment