Today betul News: वनकर्मियों का कारनामा : सागौन ले जाते पकड़ाए ग्रामीणों से 85 हजार वसूल कर छोड़ा

Today betul News: वनकर्मियों का कारनामा : सागौन ले जाते पकड़ाए ग्रामीणों से 85 हजार वसूल कर छोड़ा

▪️ नवील वर्मा, शाहपुर

Today betul News: मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मोटा वेतन तो जंगल की सुरक्षा के नाम पर ले रहे हैं, लेकिन सुरक्षा करने के बजाय इस बेशकीमती जंगल को उजाड़ने में ही पूरी ताकत से जुटे हैं। कुछ दिन पहले ही आठनेर रेंज का मामला सामने आया था जिसमें रेंजर खुद ही वन माफिया के यहां अवैध रूप से सागौन की लकड़ी पहुंचा रहे थे। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था।

जिसके बाद रेंजर को निलंबित कर दिया गया है।अब इसी से मिलता जुलता एक और मामला सामने आया है। यह मामला सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के तवा बफर जोन भौंरा का है। यहां तवा बफर जोन भौंरा के एक डिप्टी रेंजर व बीट गार्ड द्वारा सागौन की बल्ली जंगल से लेकर जा रहे ग्रामीणों को पकड़ा गया। उन्होंने नियमानुसार कार्यवाही करने के बजाय 85 हजार रुपए की उगाही कर पूरा मामला रफा दफा करने की कोशिश की।

Today betul News: वनकर्मियों का कारनामा : सागौन ले जाते पकड़ाए ग्रामीणों से 85 हजार वसूल कर छोड़ा

वहीं दूसरी ओर अवैध कटाई की जानकारी मिलने पर रेंजर निशांत दोषी ने ग्रामीणों पर वन अपराध का प्रकरण दर्ज कर दिया।इस पूरे मामले की अब अधिकारियों द्वारा जांच कराई जा रही है। मामले की जांच डिप्टी रेंजर एलएन चौहान द्वारा की जा रही है। ग्रामीणों को बयान के लिए बुलाया गया है। हालांकि अभी उनके बयान नहीं हुए हैं।

इस मामले में अभी तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक बंजारीढाल गांव के 6 ग्रामीण रामकिशन, रामचरण, सुरेश, महेश, रामसिंह, रामदास विगत 19 सितंबर को तवा बफर जोन सेंचुरी के जंगल से हल में लगने वाली लकड़ी लेकर आ रहे थे। इस दौरान डिप्टी रेंजर मोकल सिंह कासदे, बीट गार्ड जितेंद्र नायर, बीट गार्ड पवन उइके ने उनसे सागौन की बल्ली, साइकिल एवं कुल्हाड़ी जप्त की थी। केस बनाने की धमकी देकर प्रत्येक से 25-25 हजार रुपए की मांग की गई थी, हालांकि सौदा 15-15 हजार में तय हुआ था।

दूसरे दिन पहली किस्त के 60 हजार रुपए नगद डिप्टी रेंजर मोकल सिंह कासदे और बीट गार्ड जितेंद्र नायर को दिए। 3 दिन बाद फिर 25 हजार नगद दिए थे क्योंकि एक ग्रामीण 5 हजार रुपए कम की व्यवस्था कर पाया था। इधर रुपए देने के बाद ग्रामीण लगातार अपनी साइकिल और कुल्हाड़ी वापस मांग रहे थे पर वे वापस नहीं किए जा रहे थे। इस बीच उन पर प्रकरण भी दर्ज हो गया। अब वे रुपए देने के बावजूद इधर के रहे ना उधर के।

ऐसे हुआ था मामले का खुलासा (Today betul News)

बताया जाता है कि यह पूरा मामला रफा दफा भी हो जाता, लेकिन इस लेन देन की भनक लगने पर शाहपुर के दो मीडिया कर्मी बंजारीढाल पहुंचे थे। उन्होंने इस प्रकरण में शामिल एक ग्रामीण से इस मामले को लेकर चर्चा की और इसका वीडियो भी बनाया। उस ग्रामीण ने स्वीकार किया कि उन्हें पकड़ा गया था और इसके बदले उनसे 85 हजार रुपए लिए गए। यह वीडियो तवा बफर रेंज के रेंजर श्री दोषी को दिखाकर पूरे मामले से अवगत कराया गया। इस पर संज्ञान लेते हुए उन्होंने प्रकरण दर्ज करवा कर जांच शुरू करवाई।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker