Kamalnath In Betul : कमल नाथ बोले- भाजपा सरकार ने व्यापमं घोटाला, घर-घर शराब बिक्री और अपराध दिए

Kamalnath In Betul : कमल नाथ बोले- भाजपा सरकार ने व्यापमं घोटाला, घर-घर शराब बिक्री और अपराध दिए

Kamalnath In Betul : नाथ के वाहन के नीचे आया कांग्रेस कार्यकर्ता, सुरक्षाकर्मियों ने खींच कर निकाला

मध्यप्रदेश सरकार कितना भी गुमराह कर ले, लेकिन लोग समझ चुके हैं। भाजपा की सरकार प्रदेश में वापस आई तो सौ यूनिट बिजली बिल, छात्रवृत्ति, कुपोषण मुक्ति जैसी योजनाएं चली गई। प्रदेश में लाखों लोग बेरोजगार हैं। सबसे पहले युवाओं को रोजगार दीजिए ताकि युवा शक्ति को मौका मिले। प्रदेश में भाजपा सरकार ने व्यापमं घोटाला दिया, घरों घर शराब बिक्री दी, बाल अपराध दिया। भाजपा के शासन को 18 साल हो गए, हर वर्ग परेशान है।

यह बात मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमल नाथ ने बैतूल जिले के आमला ब्लॉक के खेड़ली बाजार में आमसभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने भाजपा पर आरोपों की बौछार करते हुए कहा कि यह बड़ी विडंबना है कि 70 प्रतिशत अर्थ व्यवस्था किसान संभालता है। कृषक कर्ज में ही डूबा रहा तो उनका क्या होगा।

ये भी पढ़ें: Statement on Kamal Nath: आमला विधायक डॉ. पंडाग्रे का बड़ा हमला, बोले- मेरी नजर में कमल नाथ राष्ट्रीय स्तर के नहीं, केवल एक क्षेत्रीय नेता

उन्होंने आरोप लगाया कि आज मिलावट, भ्रष्टाचार चरम पर है। इसी वजह से प्रदेश में निवेश नहीं हो रहा है। भ्रष्टचार के सिस्टम ने पूरे प्रदेश का नाम खराब किया है। उन्होंने दोहराया कि आने वाले विधानसभा चुनाव में बैतूल की जनता पांचों सीटों पर चुनाव जीतकर परचम लहराएंगी। उन्होंने आगे कहा कि कि ऐसा कोई देश विश्व में नहीं है, जहां इतने धर्म, जातियां, भाषाएं और देवी-देवता मौजूद हैं। कोई लोहड़ी पर्व मनाता है तो कोई पोंगल। यही हमारी संस्कृति है और पूरा विश्व ताज्जुब से देखता है, लेकिन आज हमारी संस्कृति खतरे में है।

ये भी पढ़ें: Congress MLA Sukhdev Panse : अब पूर्व मंत्री पांसे ने किया भाजपा पर प्रहार, कहा- सूप बोले तो बोले छलनी भी बोले जिसमें बहत्तर छेद

Kamalnath In Betul : कमल नाथ बोले- भाजपा सरकार ने व्यापमं घोटाला, घर-घर शराब बिक्री और अपराध दिए

उन्होंने कहा कि अंबेडकर ने हमें संविधान दिया। इतनी विविधता की चुनौती को स्वीकार किया। कई देशों में इसकी नकल हुई है, यदि यह गलत हाथों में चला जाएगा तो देश कहां जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव में बहुत मुद्दे होते हैं, किसानों, माता-बहनों की सुरक्षा समेत अन्य मुद्दों पर चुनाव लड़े जाते हैं। 8 महीनें बाद प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने वाला है। इसके लिए आपको खुद निर्णय लेना पड़ेगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि हम मोदी के रास्ते पर चलना चाहते हैं या देश की संस्कृति के मुद्दे पर, यह निर्णय हमे खुद लेना है। हमारा संविधान संस्कृति को जीवित रखने का मुद्दा है। आज तमिलनाडु में हिंदू भाषा का विवाद है, पंजाब में खालिस्तान के नारे लग रहे हंै। गुमराह करने की आपस में लड़ाने की राजनीति है। हर गांव में लोग भाईचारे से रहते हैं, सब शांति चाहते हैं, लेकिन यही अब सबसे बड़ी चुनौती बन गया है।

ये भी पढ़ें: Congress statement on BJP : अब कांग्रेस का पलटवार, वागद्रे बोले- महंगी रेत, कलेक्ट्रेट और जेल की जमीन बिक्री पर बोल कर दिखाएं 

हमारी सरकार ने नई क्रांति लाई

श्री नाथ ने कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव में 15 साल बाद भाजपा के शासन से मुक्ति मिली थी। हमारी सरकार प्रदेश में आई। दिसंबर 2018 में ऐसा प्रदेश हमें सौंपा गया था जब किसानों की आत्महत्या, बेरोजगारी, अत्याचार में नंबर वन था। हमने शुरुआत की थी, कृषि में नई क्रांति लाए, मप्र की नई पहचान बनाए। किराने की दुकान भी गांव में तब चलती है, जब किसान की जेब में पैसा होता है। किसान को खाद-बीज के लिए भटकना न पड़े।

ये भी पढ़ें: Action Against Contractors : कार्यों में लेटलतीफी पर 9 ठेकेदारों को शोकॉज नोटिस, एक को किया जाएगा ब्लैक लिस्टेड

गौमाता को बचाकर कौनसा पाप किया (Kamalnath In Betul)

उन्होंने कहा कि 15 महीने में से ढाई महीने लोकसभा चुनाव में चले गए। साढ़े 11 महीनों में कांग्रेस सरकार ने जिले के करीब 85 हजार किसानों का माफ किया। पूरे प्रदेश में सौ रुपये में सौ यूनिट बिजली दी, गौशाला बनाकर गौमाताओं को सुरक्षित रखने जैसे निर्णय लेकर कौन सा पाप किया। लेकिन, उनकी सरकार गिरा दी गई। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवराज सिंह चिल्लाते हैं, प्रदेश में घोषणा की जो मशीन चला रहे हैं, यह जनता समझ गई है।

ये भी पढ़ें: Betul Samachar : बिजली कंपनी के उपयंत्री और प्रधानपाठक को शोकॉज नोटिस, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का कटेगा वेतन

Kamalnath In Betul : कमल नाथ बोले- भाजपा सरकार ने व्यापमं घोटाला, घर-घर शराब बिक्री और अपराध दिए

मैं अपनों के बीच में आया हूं : नकुल नाथ

इस मौके पर छिंदवाड़ा के सांसद नकुलनाथ ने सभा को संबोधित करते कहा कि कई दिनों से उनकी दिली इच्छा थी कि बैतूल आऊं। आज काफी खुशी हो रही है कि अपनों के बीच आया हूं। उन्होंने हजारों लोगों की मौजूदगी में अपनापन जताते हुए कहा कि मैं कांगे्रस का नेता नहीं, एक पड़ोसी और बेटा बनकर आपके बीच आया हूं, वोट मांगने नहीं। आप सभी का प्यार विश्वास मांगने आया हूं। उन्होंने कहा कि आज मेरा नहीं मेरे पिता का कार्यक्रम है, लेकिन जब भी मेरी जरूरत पड़े एक फोन लगाने पर मैं एक घंटे में आपके बीच आ जाउंगा।

ये भी पढ़ें: Shirdi Bus Accident: शिर्डी में बड़ा हादसा, श्रद्धालुओं की बस ट्रक से भिड़ी, 10 की दर्दनाक मौत, 45 यात्री थे सवार, देखें वीडियो

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दिए टिप्स

इससे पहले निर्धारित समय 11 बजे पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके सांसद पुत्र नकुलनाथ का उड़नखटोला हेलीपैड पर उतरा। यहां चुनिंदा कांग्रेसियों ने उनका स्वागत किया। यहां से पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद ने जिले भर के मंडलम, सेक्टर और जिला-ब्लॉक पदाधिकारियों को संबोधित किया। कमलनाथ ने कार्यकर्ता से पांचों विधानसभा में कांग्रेस विधायक को जीत दिलाने के लिए संकल्पित होने का आग्रह किया। उन्होंने कांग्रेस सरकार की नीतियों को मतदाताओं तक पहुंचाने का भी आग्रह किया।

ये भी पढ़ें: Optical Illusion for IQ Test : इस तस्वीर में कहीं छुपा है मेंढक, सिर्फ 7 सेकंड में ढूंढ कर दिखाने का है चैलेंज

ये भी पढ़ें: Letv S1 Pro : पूरी होगी आईफोन रखने की चाहत, 11 हजार रुपए वाला ये फोन दिखता है महंगे iPhone 14 PRO जैसा, फीचर्स भी है कमाल के

कमल नाथ के वाहन के नीचे आया कार्यकर्ता (Kamalnath In Betul)

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की सभा के पूर्व सुरक्षा में बड़ी चूक सामने आई है। एक कांग्रेस कार्यकर्ता उस समय उनके वाहन के नीचे आ गया, जब वे हेलीपैड से सभास्थल जा रहे थे। वाहन में सामने वे कांग्रेस कार्यकर्ता और लोगों का अभिवादन कर रहे थे। इसी दौरान एक कांग्रेस कार्यकर्ता पूर्व मुख्यमंत्री के समर्थन में जिंदाबाद के नारे लगाते हुए अचानक उनके वाहन के सामने आ गया। कार्यकर्ता के वाहन में दबने से हड़कम्प मच गया। सुरक्षाकर्मियों का ध्यान जैसे ही इस ओर गया, तत्काल कार्यकर्ता को वाहन से निकाल लिया गया।

ये भी पढ़ें: Traffic Challan: बाइक पर हेलमेट लगाने के बावजूद कट सकता है 2000 का चालान, यह नया नियम हुआ लागू

शुक्र है कि उस समय वाहन की गति तेज नहीं थी, अन्यथा कार्यकर्ता के साथ अनहोनी से इंकार नहीं किया जा सकता था। हालांकि वाहन के नीचे से निकालने के बाद कार्यकर्ता ने जोशीले अंदाज में कमल नाथ का स्वागत किया। कार्यकर्ता का नाम संदीप पासवान बताया जा रहा है। श्री नाथ को जेड प्लस सिक्योरिटी मिली है, ऐसे में उनके वाहन के सामने कांग्रेस कार्यकर्ता का आ जाना सुरक्षा में लापरवाही माना जा रहा है।

ये भी पढ़ें: Makar Sankranti 2023: यह है वो स्थान जहां से मकर संक्रांति पर माँ ताप्ती ने अपने पिता सूर्यदेव की ओर देखा था…

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker