JOB OPPORTUNITY : कर लें तैयारी! भारत की सबसे बड़ी कंपनी में जल्द होगी 1 लाख 25 हजार कर्मचारियों की भर्ती, ये है प्लान

JOB OPPORTUNITY : कर लें तैयारी! भारत की सबसे बड़ी कंपनी में जल्द होगी 1 लाख 25 हजार कर्मचारियों की भर्ती, ये है प्लान

JOB OPPORTUNITY: एक ओर पूरी दुनिया में बड़ी-बड़ी कंपनियां कर्मचारियों की छटनी कर रही हैं, वहीं भारत सहित पूरी दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी में से एक TCS (Tata Consultancy Services) जल्द ही 1 लाख 25 हजार कर्मचारियों की भर्ती करेगी। यह बात खुद टीसीएस कंपनी के सीईओ और एमडी राजेश गोपीनाथन ने कही। उन्होंने अपनी कंपनी की योजना के बारे में भी जानकारी दी।

1 लाख 25 हजार को मिलेगी नौकरी (JOB OPPORTUNITY)

टीसीएस ने तिमाही आंकड़े पेश किए, जिसमें बताया कि कंपनी ने 10 तिमाही यानी 3 साल में पहली बार अपने कर्मचारियों की संख्या घटाई, लेकिन अब कंपनी ने एक शानदार ऐलान किया है। टीसीएस के सीईओ और एमडी राजेश गोपीनाथन ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में सवा लाख कर्मचारियों की भर्ती किए जाने की जानकारी दी है।

हम नहीं करेंगे छटनी

टीसीएस के एमडी राजेश गोपीनाथन ने कहा कि हम लगातार नई हायरिंग पर जोर दे रहे हैं। तिमाही में डिमांड कम होने से इस पर थोड़ा असर देखा गया, लेकिन आने वाले वर्ष में एक बार फिर सवा लाख से डेढ़ लाख तक हायरिंग कर सकते हैं। यह भरोसा बिजनेस के लॉन्ग टर्म विस्तार को देखकर किया जा रहा है। हमारा फोकस नए टैलेंट पर इन्वेस्ट करने का है। कंपनी ने पिछले वर्ष में भी 1 लाख 3 हजार कर्मचारियों की भर्ती की। जबकि अभी वर्तमान वित्त वर्ष में 55 हजार कर्मचारियों की भर्तियां की जा चुकी है। कंपनी में कुल 6 लाख 13 हजार कर्मचारी जॉब कर रहे हैं।

40 हजार फ्रेशर्स को मिलेगा मौका  (JOB OPPORTUNITY)

पीसीएस के एचआर हेड मिलिंद लक्कड़ का कहना है दिसंबर तिमाही में कर्मचारियों की संख्या घटने का सबसे बड़ा कारण एट्रिशन रेट बढ़ना है। कंपनी चौथी तिमाही में इसकी भरपाई करेगी और हजारों नई भर्तियां होगी। कंपनी का फोकस फ्रेशर्स कर्मचारियों पर है। 2023-24 में भी 4 हजार फ्रेशर की भर्ती की जाएगी। अभी तक कंपनी में 5 लाख युवाओं ने जॉब के लिए अप्लाई किया है। दिसंबर में कर्मचारियों की नौकरी बदलने की दर 21 फ़ीसदी पहुंच गई है, इसीलिए कंपनी में कर्मचारियों की संख्या कम दिखी।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker