Bijli Chori Ki Suchna: बिजली चोरी की सूचना देने पर मिलेगा इनाम, बिजली कंपनी ने किया ऐलान, गुप्त रहेगा नाम

Bijli Chori Ki Suchna: बिजली चोरी की सूचना देने पर मिलेगा इनाम, बिजली कंपनी ने किया ऐलान, गुप्त रहेगा नाम

Bijli Chori Ki Suchna: मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने बिजली चोरी की रोकथाम के लिए इनाम योजना घोषित की है। अवैध उपयोग की सूचना देने पर निर्धारित शर्तों के अधीन पारितोषिक देने का प्रावधान है। सूचना के आधार पर राशि वसूली होने पर सफल सूचनाकर्ता को 10 प्रतिशत राशि का भुगतान किया जाएगा। इस राशि की अधिकतम सीमा नहीं है।

बिजली के अवैध उपयोग/चोरी के संबंध में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कंपनी मुख्यालय एवं क्षेत्रीय मुख्यालयों के अलावा क्षेत्रीय महाप्रबंधकों को भी लिखित अथवा दूरभाष पर सूचना दी जा सकती है। सूचनाकर्ता की जानकारी गोपनीय रखने की जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की रहेगी। कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी को सूचनाकर्ता नहीं माना जाएगा। सूचनाकर्ता को प्रोत्साहन राशि का भुगतान कंपनी मुख्यालय से किया जाएगा। प्रोत्साहन राशि सीधे सूचनाकर्ता के बैंक खाते में जमा की जाएगी।

प्रकरण बनाने एवं राशि वसूली करने वाले विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी ढाई प्रतिशत राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी। कंपनी मुख्यालय में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए विजिलेंस सेल गठित किया गया है। इस विजिलेंस सेल को भी सूचना भेजी जा सकती है।

विजिलेंस सेल का पता यह है: विजिलेंस सेल, कार्यालय प्रबंध संचालक, म.प्र.म.क्षे.वि.वि.कं.लि., गोविन्‍दपुरा भोपाल। इसके अलावा कॉल सेन्‍टर के नंबर 1912 अथवा UPAY एप पर भी सूचना देने का विकल्‍प है। (Bijli Chori Ki Suchna)

सोलर रूफटॉप योजना फेस-2 में लक्ष्य हासिल करने पर प्रोत्साहन राशि जारी

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा सोलर रूफटॉप योजना फेस-2 में वर्ष 2019-20 में कुल आरटीएस (रूफटॉप सोलर) क्षमता 32.956 मेगावाट में 19.186 मेगावाट आरटीएस क्षमता वृद्धि करते हुए कुल क्षमता 52.143 मेगावाट करने पर भारत सरकार के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा सोलर इनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के माध्यम से 4 करोड़ 82 लाख 14 हजार 141 रूपये की प्रोत्साहन राशि जारी की गई है।

प्रदेश की सभी विद्युत वितरण कंपनियों की तुलना में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को सर्वाधिक प्रोत्साहन राशि स्वीकृत की गई है। गौरतलब है कि पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को 4 करोड़ 18 लाख रूपये एवं पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को 3 करोड़ 71 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि जारी की गई है।

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा सोलर रूफटॉप योजना फेस-2 में प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कंपनियों को 12 करोड़ 71 लाख रूपये से अधिक की प्रोत्साहन राशि सोलर रूफटॉप आरटीएस परियोजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए प्रदाय की गई है, जिसका उपयोग वितरण कंपनियों द्वारा सोलर रूफटॉप योजना के सफल क्रियान्यवन के लिए किये जाने वाले कार्यों में किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker