Betul News: अंतत: पत्रकार पंकज सोनी पर महिलाओं से षड़यंत्रपूर्वक हमला करवाने वाले 2 लोगों पर एफआईआर

Betul News: अंतत: पत्रकार पंकज सोनी पर महिलाओं से षड़यंत्रपूर्वक हमला करवाने वाले 2 लोगों पर एफआईआर

Betul News: बैतूल के शंकर वार्ड निवासी और बैतूल से प्रकाशित सांध्य हिन्दी दैनिक सांझवीर टाईम्स के सम्पादक पंकज सोनी (Pankaj Soni) पर 29 अक्टूबर को नकाबपोश महिलाओं द्वारा किये हमले में षड़यंत्र रचने वाले 2 लोगों पर गंज पुलिस थाने में मामला दर्ज हो गया है। इस मामले में हमले की आरोपी रेखा देशमुख पर पहले और फिर दो अन्य महिलाओं डिम्पल वर्मन तथा प्रिया बारस्कर पर मारपीट एवं गाली गलौच का मामला दर्ज हो चुका है।

नर्मदापुरम आईजी दीपिका सुरी (Narmadapuram IG Deepika Suri) ने प्रिया बारस्कर नाम की महिला द्वारा दिए गए आवेदन के बाद नर्मदापुरम के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से इस प्रकरण में जांच कराई थी। जांच रिपोर्ट आने के बावजूद पुलिस ने षड़यंत्र रचने वालों पर एफआईआर नहीं की थी। इससे नाराज पत्रकारों ने भोपाल जाकर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र और डीजीपी से मुलाकात कर अपना रोष जाहिर किया था।

इसके बाद नाराज होकर जिला मुख्यालय और राजधानी भोपाल से प्रकाशित कई प्रतिष्ठित समाचार पत्रों ने ब्लैंक अखबार प्रकाशित कर विरोध जताना शुरू किया। इसका असर यह हुआ कि बाद गंज पुलिस ने कोठीबाजार निवासी प्रशांत (बिट्टू) बोथरा और रजनीश जैन के विरुद्ध धारा 120 बी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

गंज टीआई एबी मर्सकोले ने बताया कि पंकज सोनी के साथ षड़यंत्रपूर्वक मारपीट करने पर दोनों युवकों के विरुद्ध धारा बढ़ाई गई है। मामले में तीन महिलाओं रेखा देशमुख, प्रिया बारस्कर और डिम्पल बर्मन पर पूर्व में ही धारा 294, 506, 323, 34 के तहत प्रकरण दर्ज हो चुका है। उन्होंने बताया थाने के उप निरीक्षक संदीप परतेती विवेचना कर रहे हैं। अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई हैं।

इधर गंज पुलिस थाना के जांच अधिकारी उप निरीक्षक संदीप परतेती ने बताया कि जांच सभी बिंदुओं पर की जा रही है। महिलाओं की कॉल डिटेल निकालकर बारीकी से जांच की जाएगी।

जांच रिपोर्ट में हो चुका है खुलासा

पत्रकार पंकज सोनी पर 29 अक्टूबर को अपने कार्यालय जाते समय घर के साथ चौराहे पर नकाबपोश महिलाओं ने सुनियोजित हमला किया था। इस मामले में महिलाओं ने नर्मदापुरम आईजी को शिकायत की। उनकी शिकायत पर डेढ़ माह पहले ही जांच रिपोर्ट बैतूल पुलिस के पास आ चुकी थी, लेकिन पुलिस आरोपियों पर कार्यवाही नहीं कर पाई। इस घटना से बैतूल से लेकर भोपाल तक के पत्रकारों में रोष व्याप्त था। पुलिस के ढुलमुल रवैए पर पत्रकारों ने भी नाराजगी जताई थी। पुलिस को षड़यंत्र रचने वालों पर मामला दर्ज करने में लंबा समय लग गया।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker