Bachchon ne di gullak : छोटे बच्चों का बड़ा दिल, मंदिर निर्माण के लिए दे दी गुल्लक, पंडित प्रदीप मिश्रा ने किया नामकरण

• लोकेश वर्मा, मलकापुर (बैतूल)

मध्यप्रदेश के बैतूल में जिला मुख्यालय के समीपी ग्राम ढोंढवाड़ा में शिवालय नहीं था। भोलेनाथ पर आस्था रखने वाले भक्त जनों की इच्छा थी कि यहां भव्य शिव मंदिर का निर्माण हो। जिससे भोलेनाथ के भक्त, माता एवं बहनें गांव में ही पूजा-पाठ कर सके। गांव के आसपास मंदिर ना होने के कारण दूर-दराज तक पूजा करने के लिए जाना पड़ता था। ग्राम के सुरेन्द्र धोटे ने बताया कि उनके गांव में कोई शिव मंदिर नहीं था। गांव की महिलाओं को खासी परेशानी होती थी। जिसको ध्यान में रखते हुए सभी के मन में शिवालय बनाने का विचार आया। जिसके बाद उसके निर्माण का कार्य शुरू किया गया। धीरे-धीरे लोग सहयोग देते रहे और मंदिर का निर्माण तेज गति से शुरू हो गया।

भोलेनाथ के मंदिर के निर्माण की बात आई तो दो बच्चों ने गुल्लक दे दी

समिति के नितिन पंडागरे ने बताया कि मंदिर निर्माण को लेकर ग्राम के प्रबुद्ध जनों की बैठक चल रही थी। सभी अपनी सामर्थ्य अनुसार बढ़-चढ़कर सहयोग कर रहे थे। इसे देख ग्राम के मेहुल धोटे और भूमि खाड़े ने अपनी गुल्लक में जमा किए पैसे समिति को लाकर दे दिए। मेहुल धोटे के पिता सुरेंद्र धोटे ने बताया कि दोनों बच्चों को खिलौने से बड़ा प्रेम है और वे इसीलिए गुल्लक में पैसे जमा कर रहे थे। मगर भोलेनाथ के मंदिर निर्माण की बात आई तो सभी का बढ़-चढ़कर सहयोग देख बच्चों ने भी गुल्लक के पैसे दे दिए।

पं. प्रदीप मिश्रा ने किया शिवालय का नामकरण

ग्राम ढोंढवाड़ा के ग्रामीणों ने गत दिनों बैतूल में आयोजित हुई ताप्ती शिव महापुराण में प्रसिद्ध कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा से मुलाकात कर उनके गांव में बन रहे शिव मंदिर का नामकरण करने का अनुरोध किया। जिसके बाद प्रसिद्ध कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा ने उक्त शिवालय का नाम श्री हाटकेश्वर महादेव रखते हुए नामकरण किया।

ओमकारेश्वर से आया शिवलिंग

जन सहयोग से हो रहे मंदिर निर्माण के बाद यहां स्थापित होने वाला भोलेनाथ का शिवलिंग मां नर्मदा के पत्थरों से बना ओमकारेश्वर से सुनील तरकसवार द्वारा एवं शिव परिवार सीमांत पांडे द्वारा लाया गया है। जिसे मंदिर निर्माण के पूर्ण होने के पश्चात विधि विधान से स्थापना की जाएगी।

मंदिर निर्माण में यह है सहयोगी

शिवालय निर्माण में सुरेंद्र कुमार धोटे, अरूण पंडागरे, उमेश धोटे, शुभम खड़से, राजेश पंडागरे, गौरव साबले, अनिल धोटे, गणेश दवंडे व सहयोगी सदस्य अलकेश वाघमारे जनपद सदस्य, कैलाश पवार, अंकेश ठोके, महेश ठोके, लोकेश कुम्भारे, सुदामा कुम्भारे, मनीष वर्मा, तरूण वैध, बबलू साबले, कमलेश खाड़े, गणेश धोटे, कृष्ण राव खाड़े साहित ग्राम के सभी लोग मंदिर निर्माण में बढ़-चढ़कर सहयोग दे रहे हैं।

Shri Sammed Shikhar : श्री सम्मेद शिखर को बचाने आंदोलन, मौन रख कर जैन समाज ने निकाली रैली

 

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker