Betul Samachar : बैतूल की इंटरनेशनल बास्केटबाल प्लेयर का कोसमी डैम में शव मिला, खेल जगत में मायूसी, जांच में जुटी पुलिस

Betul Samachar: Dead body of Betul's international basketball player found in Kosmi Dam, disappointment in the sports world, police engaged in investigation

betul samachar

Betul Samachar : मध्यप्रदेश के बैतूल शहर की निवासी और इंटरनेशनल बास्केटबाल खिलाड़ी प्रार्थना साल्वे (17) का गुरुवार सुबह शहर से कुछ दूर स्थित कोसमी डैम (Kosmi Dam Betul) में शव मिला है। इस घटना से खेल जगत में मायूसी है। सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल शुरू की है। उधर जोगली ग्राम में फोरलेन निर्माण में काम कर रहे एक मजदूर की मौत हो गई।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक बैतूल शहर के कालापाठा क्षेत्र की निवासी और बास्केटबाल खिलाड़ी प्रार्थना साल्वे का शव आज कोसमी डैम में मिला है। सूचना पर पुलिस और होमगार्ड टीम मौके पर पहुंची और शव को डैम से निकलकर पीएम के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। घटना क्यों और कैसे हुई, इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। हालांकि इस घटना की जानकारी जैसे ही लगी, वैसे ही जिले के खेल जगत में गहरी मायूसी फैल गई। डिस्ट्रिक्ट हॉकी एसोसिएशन (District Hockey Association) के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रदीप खंडेलवाल और वरिष्ठ खिलाड़ी हेमंतचंद्र (बबलू) दुबे ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि बास्केटबाल की एक होनहार खिलाड़ी को जिले और देश-प्रदेश ने को दिया है।

Betul Samachar : बैतूल की इंटरनेशनल बास्केटबाल प्लेयर का कोसमी डैम में शव मिला, खेल जगत में मायूसी, जांच में जुटी पुलिस

ऐसा रहा प्रार्थना का खेलों का सफर

प्रार्थना साल्वे की पढ़ाई कालापाठा स्थित सरस्वती स्कूल से हुई। वहीं उसने बास्केटबाल खेलना शुरू किया। इसके बाद वह स्टेडियम में खेलने जाने लगी। यहां प्रशिक्षक राकेश वाजपेयी ने प्रशिक्षण दिया। वे ही प्रार्थना को सांई में चयन के लिए छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव ले गए। यहां पर प्रार्थना का चयन हो गया।

वर्ष 2019 में प्रार्थना रूस में खेलने गई। इसके बाद प्रार्थना का फीबा एशिया कप के लिए चयन हुआ। यह जॉडर्न के अम्मान में हुआ था। यूएसए के लिए भी चयन हुआ था, लेकिन कोरोना की वजह से पत्र नहीं आया था। प्रार्थना के पिता बीएस साल्वे भीमपुर माध्यमिक स्कूल में पदस्थ हैं। प्रार्थना के परिवार में दो और बहनें है। प्रार्थना सबसे छोटी बहन है। प्रार्थना देश की तरफ से ओलांपिक खेलकर जिले का नाम दुनिया में रोशन करना चाहती थी। प्रार्थना का एक भाई भी था देवेन्द्र, जिसकी इसी साल सात मई को इंदौर के अग्निकांड में मौत हुई थी।

सड़क निर्माण कार्य में लगे मजदूर की मौत

उधर चिचोली थाना क्षेत्र में जोगली गांव के पास एक मजदूर की मौत हो गई। बताया जाता है कि यह मजदूर बैतूल-इंदौर फोरलेन निर्माण कर रही कंपनी में कार्य कर रहा था। उसकी रात में ऊंचाई से गिरने और सिर फटने से मौत हुई है। मजदूर का नाम कृष्णा और आमला के पास के किसी गांव का रहने वाला बताया जा रहा है। सुबह अन्य लोगों ने उसका शव पड़ा देखा तो पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.