Betul Shivdham Jhirnadham: ऋषि जमदग्नि कठिन तपस्या के बल पर यहां लाए थे नर्मदा मैया की धारा, पूरे वर्ष भर प्रवाहित होता है जल

Betul Shivdham Jhirnadham: Rishi Jamdagni had brought here Narmada Maiya's stream on the strength of hard penance, water flows throughout the year

▪️ लवकेश मोरसे, भीमपुर (बैतूल)

Betul Shivdham Jhirnadham : मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में धार्मिक, ऐतिहासिक, रमणीक स्थलों की कोई कमी नहीं है। यहां एक से बढ़कर एक स्थान हैं जहां पहुंचकर मन पूरी तरह प्रसन्नचित हो जाता है। कुछ स्थान ऐसे भी हैं जिनका धार्मिक और पुरातात्विक महत्व भी है। ऐसा ही एक स्थान है भगवान भोलेनाथ का ऐतिहासिक स्थान झिरणाधाम।

बैतूल जिले के भीमपुर ब्लॉक में स्थित यह स्थान पर्यटक स्थल के रूप में भी प्रसिद्ध होता जा रहा है। इस स्थान की भीमपुर मुख्यालय से दूरी लगभग 15 किलोमीटर है। यह ग्राम पंचायत कुटंगा एवं ग्राम पंचायत रतनपुर के मध्य सतपुड़ा के घने जंगलों के बीच स्थित है। नीचे वीडियो में देखें खूबसूरत नजारा…

Also Read: sardi khansi ka ilaj: स्‍वादिष्‍ट गोली से दूर होगा सर्दी का कफ और खांसी, एकदम आसानी से घर में ही होगी तैयार, देखें वीडियो..

इस धाम के बारे में यहां के बुजुर्ग बताते हैं कि यहां पर जमदग्नि ऋषि ने तपस्या की थी। यहां स्थित गिरनार धाम रतनपुर है में एक झरना है वह प्राचीन काल से पहाड़ों के बीच से बह रहा है। वर्ष भर चाहे वह कोई भी मौसम हो गर्मी, बरसात, सर्दी सभी सीजन में इससे एक सी धार निकलती है।

Also Read: Baingan Bharta Recipe | बैंगन भरता की इतनी स्वादिष्ट और आसान रेसिपी आपने पहले कभी नहीं देखी होगी

यहां देखें वीडियो…

Also Read: shreeji sugar mill : इस तरीके से करेंगे गन्ने का परिवहन तो खुद भी सुरक्षित रहेंगे और दूसरे भी, शुगर मिल उपलब्ध करा रही रेडियम वाले ट्रॉली फ्लेक्स

इस जल धारा की मान्यता है कि नर्मदा जी का जल तपस्या के बल पर ऋषि जी के द्वारा लाया गया है। इसकी जलधारा मां नर्मदा की ही होने को लेकर बुजुर्ग एक तर्क यह भी देते हैं कि आज से अगर 40 से 50 वर्ष पूर्व की बात करें तो इस क्षेत्र में गेहूं की उपज यहां नहीं होती थी। उस समय में भी गेहूं का भूसा इस झरने से बहता था। पूर्व में माँ नर्मदा के किनारे ही गेहूं होता था। इस पवित्र स्थान पर प्रतिवर्ष श्रावण मास में शिव पुराण का आयोजन होता है। जिसमें डडारी, कुटंगा, रतनपुर ग्राम के लोगों के साथ-साथ श्री सिद्धि सदन शुक्ला रतनपुर का योगदान रहता है।

Thand Se Fasalo Ko Fayda : नवंबर माह में ही कड़ाके की ठंड से होगी गेहूं की बंपर पैदावार, ओंस से पौधों की मिलेगी एक्स्ट्रा ताकत, मौसम विभाग ने कहा-चलेगी शीतलहर

Get real time updates directly on you device, subscribe now.