दो साल से बंद पड़ी है शाहपुर उप मंडी, औने-पौने दाम में व्यापारियों को उपज बेचने को मजबूर क्षेत्र के किसान

▪️ नवील वर्मा, शाहपुर
बैतूल जिले के शाहपुर में कहने को तो उप मंडी है, लेकिन यह दो साल से बंद पड़ी है। इसके चलते क्षेत्र के किसान खासे परेशान हैं। मंडी बंद होने के कारण उन्हें व्यापारियों को औने पौने दामों में उपज बेचने को मजबूर होना पड़ रहा है। यह देखते हुए किसानों ने जल्द से जल्द मंडी में खरीदी शुरू किए जाने की मांग की है।

शाहपुर किसानों की मांग पर शाहपुर में उप मंडी स्वीकृत तो हो गई और वहां शेड वगैरह भी बना दिया गया है, लेकिन वहां खरीदी कभी-कभार ही होती है। अभी पिछले करीब 2 साल से शाहपुर उप मंडी बंद पड़ी है। इससे किसानों को अपनी कृषि उपज के वाजिब दाम भी नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में बड़े किसानों को अपनी उपज लेकर बैतूल या इटारसी जाना पड़ता है, लेकिन छोटे किसान ऐसा भी नहीं कर पाते हैं। इन हालातों में उन्हें गांव में आने वाले व्यापारियों को ही अपनी उपज औने-पौने दामों में बेचना पड़ता है। यही कारण है कि किसानों ने जल्द से जल्द शाहपुर मंडी शुरू किए जाने की मांग की है।

बैतूल मंडी में हुई बंपर आवक

उधर दीपावली अवकाश के चलते कृषि उपज मंडी बडोरा (बैतूल) में 5 दिनों से खरीदी नहीं हो रही थी। आज गुरुवार को 6 वें दिन जब मंडी खुली तो किसान उपज बेचने के लिए उमड़ पड़े। यही कारण है कि आज एक ही दिन में मंडी में करीब 14 हजार बोरे की आवक हो गई। इतनी आवक इस महीने में मंडी में किसी दिन नहीं हुई थी।

दीपावली पर्व की शुरूआत से ही मंडी में अवकाश शुरू हो गया था। मंडी में अवकाश शुरू होने के पहले 21 अक्टूबर को खरीदी हुई थी। उसके बाद से लगातार 5 दिन मंडी में खरीदी नहीं हुई। इस बीच किसान भी दीपावली पर्व मनाने में लगे रहे। दीपावली का अवकाश खत्म होने के बाद गुरुवार को 6 वें दिन खरीदी शुरू हुई। खरीदी शुरू होते ही वे सभी किसान अपनी उपज बेचने के लिए उमड़ पड़े, जिन्हें बीच में ही उपज बेचना जरुरी था, लेकिन बेच नहीं पाए। यही कारण था कि आज मंडी में बंपर आवक हुई।

आज सभी तरह की कृषि उपज के 13987 बोरे की आवक मंडी में हुई। इससे पहले इस माह में किसी भी दिन इतनी अधिक आवक नहीं हुई थी। छह दिन पहले जब मंडी बंद हुई थी, उस दिन 10743 बोरे आवक हुई थी। उससे पहले तो आवक और भी कम थी। इस महीने 13 अक्टूबर को 7612 बोरे, 14 अक्टूबर को 7450 बोरे, 15 अक्टूबर को 5503 बोरे, 17 अक्टूबर को 8464 बोरे, 18 अक्टूबर को 4148 बोरे, 19 अक्टूबर को 9405 बोरे और 20 अक्टूबर को 8133 बोरे की आवक मंडी में हुई थी।

आज सोयाबीन की आवक 1097 बोरे, चना की 35, मक्का की 9794, गेहूं की 3035, सरसो की 7, तुअर की 3 और मूंग की 16 बोरे की आवक हुई है। आवक बढ़ने के बावजूद अधिकांश फसलों के दाम में आज बढ़ोतरी दर्ज की गई है। उपज बिक जाने और दाम भी अच्छे मिल जाने के कारण किसान भी खुश थे। इधर मक्का की नई फसल आ जाने से अब आने वाले दिनों में आवक में और बढ़ोतरी की संभावना जताई जा रही है।

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker