Betul News : दो साल में भी पूरा नहीं हुआ जल जीवन मिशन का काम, कुएं का दूषित पानी पीने को मजबूर ग्रामीण, पहले जा चुकी है हैजा से 35 लोगों की जान

Betul News: The work of Jal Jeevan Mission was not completed even in two years, villagers forced to drink contaminated water from the well, earlier 35 people have died due to cholera

Betul News : दो साल में भी पूरा नहीं हुआ जल जीवन मिशन का काम, कुएं का दूषित पानी पीने को मजबूर ग्रामीण, पहले जा चुकी है हैजा से 35 लोगों की जान

Betul News : बैतूल जिले के भीमपुर विकासखंड की ग्राम पंचायत पलस्या के ग्रामीणों ने पेयजल की समस्या (Villagers facing drinking water problem) दूर करने और क्षेत्र में जिओ टावर शुरू करवाए जाने जनसुनवाई में पहुंचकर कलेक्टर (public hearing in Betul) को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन के माध्यम से सरपंच सोमा बारस्कर, उपसरपंच संदीप यादव ने बताया कि जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) योजनार्न्तगत पाईप लाईन का कार्य दो वर्षों से चल रहा है। जल जीवन मिशन के अंतर्गत चल रही पाइप लाइन का कार्य गुणवत्ता विहीन है और धीमी गति से कार्य किया जा रहा है। 2 वर्ष बाद भी कार्य पूर्ण नहीं होने के चलते ग्रामीणों को पेयजल की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

इन हालातों में सड़कढाना, मोमरेढाना में बरसाती कुएं का दूषित पानी ग्रामीण पीने को मजबूर है। कुएं का पानी पीने से गांव में बीमारी फैल रही है। ग्रामीणों ने बताया कि सन 2000 में दूषित पानी पीने के चलते ग्राम में हैजा बीमारी फैली थी। इस बीमारी के चलते लगभग 35 लोगों की मृत्यु हुई थी। ग्रामीणों ने कलेक्टर से जांच की मांग करते हुए पाइपलाइन का कार्य जल्द से जल्द पूर्ण किए जाने का आग्रह किया है।

ग्राम पंचायत पलस्या में नहीं रहता नेटवर्क

ग्राम पंचायत पलस्या में विगत कई वर्षों से नेटवर्क की समस्या बनी हुई है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में जिओ कंपनी का टावर विगत 3 वर्षों से रामा की बाड़ी में लगा हुआ है, लेकिन इसमें नेटवर्क ही नहीं है। ग्रामीणों ने जिओ टावर को शुरू करवाए जाने की मांग की है। इसके अलावा प्राचीन डांड पशुओं व खेतों में जाने वाला रास्ता खुलवाने का भी निवेदन किया है।

ग्रामीणों ने बताया ग्राम पंचायत पलस्या के खिड़कीयाढाना गज्जू के घर के पास से प्राचीन काल से पशुओं व खेतों के जाने का रास्ता था, किंतु कुछ लोगों द्वारा उक्त रास्ते पर अतिक्रमण कर बंद कर दिया गया है, जिससे ग्रामवासियों को अत्यधिक पेरशानी हो रही है। ग्रामीणों ने कलेक्टर से उक्त रास्ते की जांच कर अतिक्रमण मुक्त करवाने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में ग्रामीण राजू जामुनकर, काल्या तांडिलकर, तुका पांसे, बाबूलाल कास्देकर, फूल चंद, प्रकाश, मनीराम सहित अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.