लोगों की सतर्कता से एक और बाइक चालक बहने से बचा; उधर बस का परमिट और चालक का ड्राइविंग लाइसेंस होगा निरस्त, भेजा प्रस्ताव

Due to the alertness of the people, another bicyclist averted the drift; On the other hand, bus permit and driver's driving license will be canceled, proposal sent

▪️ उत्तम मालवीय, बैतूल
जिले में लगातार हो रही बारिश और लोगों के बहने की घटनाओं के बावजूद लोग जरा भी सबक लेने को तैयार नहीं है। यही कारण है कि लगातार हादसे भी हो रहे हैं। बुधवार दोपहर को ही आठनेर क्षेत्र में एक बाइक चालक बहा है। वहीं दूसरी ओर खेड़ी के पास भी ऐसा ही एक हादसा होते-होते बचा। एक युवक बाइक समेत नदी में बह रहा था। उसे लोगों ने दौड़ कर बचाया। उधर शाहपुर में माचना पुल पर बाढ़ के बावजूद बस निकालने पर परिवहन विभाग ने कार्यवाही की है। बस का परमिट और ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त करने का प्रस्ताव होशंगाबाद भेजा है।

जिले में मंगलवार रात से ही मूसलाधार बारिश हो रही है। इससे नदी-नाले उफान पर हैं। इसके बावजूद लोग पुल पर पानी होने के बावजूद नदी-नाले पार करने का दुस्साहस कर रहे हैं। इसके चलते इस साल जिले में कई लोगों की जान जा चुकी है। बुधवार को भी आठनेर क्षेत्र में एक युवक नदी में बह गया। इधर बैतूल के पास खेड़ी में भी ऐसा ही एक हादसा होते-होते बचा।

बैतूल-इंदौर नेशनल हाईवे पर खेड़ी सांवलीगढ़ के पास करंजी नदी में जबरदस्त बाढ़ थी। बाढ़ का पानी ब्रिज को पार कर परिहार पेट्रोल पंप तक पहुंच गया था। इसके बावजूद यहां से बस-ट्रक और अन्य वाहन बगैर रोक टोक के नदी की बाढ़ के बीच सड़क पार करते रहे। इसी दौरान एक मोटर साइकिल चालक नदी के बहाव में बहने लगा। देखें वीडियो…

वहां मौजूद लोगों ने जैसे ही यह नजारा देखा, उन्होंने बगैर कोई देरी किए दौड़ कर उसे बचाया। यदि लोग नहीं दौड़ते तो निश्चित रूप से वह पुलिया में गिर कर बह जाता। बताया जाता है कि इतनी बाढ़ होने के बावजूद वहां पर कोई पुलिस कर्मी मौजूद नहीं था। यही कारण है कि लोग अपनी मनमर्जी से आवाजाही करते रहे।

उधर बुधवार सुबह शाहपुर स्थित नाचना पुल के ऊपर से पानी जाने के बावजूद एक बस ड्राइवर ने यात्रियों की जान जोखिम में डालकर पुल पार कर लिया था। इस मामले में परिवहन विभाग ने बस का परमिट और ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त करने का प्रस्ताव कमिश्रर कार्यालय होशंगाबाद को भेजा है।

बताया जाता है कि यह बस संजय शिवहरे निवासी बालागंज, होशंगाबाद के नाम से रजिस्टर्ड है। इसके चालक द्वारा शाहपुर में माचना नदी के पुल पर पानी होने के बावजूद यात्रियों की जान जोखिम मे डालकर लापरवाहीपूर्वक पुल को पार किया गया। विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि यात्री बस के चालक द्वारा यात्रियों की सुरक्षा को नजर अंदाज करते हुए लापरवाहीपूर्वक वाहन का संचालन किया गया है।

यह यात्रियों की सुरक्षा के हित में न होकर मोटरयान अधिनियम-1988 एवं नियम-1989 तथा मप्र मोटरयान नियम 1994 की अपेक्षाओं के तहत परमिट शर्तों का स्पष्ट उलघंन की श्रेणी में आता है। उपरोक्त यात्री बस का स्थाई परमिट भोपाल से पांढुर्णा तक है जिसकी वैधता 30 सितम्बर 2024 तक है।

इस वाहन के चालक द्वारा लापरवाहीपूर्वक वाहन संचालन कर परमिट शर्तों का उल्लंघन किए जाने की स्थिति में वाहन को स्वीकृत परमिट/फिटनेस एवं वाहन चालक का ड्रायविंग लायसेंस निलंबित/निरस्त किए जाने हेतु कमिश्नर होशंगाबाद को प्रेषित किया गया है।