Aprajita paudhe ke fayde : अपराजिता का पौधा सुंदरता बढ़ाने के साथ लाता है खुशहाली, जैसे-जैसे बढ़ता है वैसे-वैसे होती है धनवृद्धि

Aprajita plant Benefits : भारत में पेड़ पौधों की भी पूजा की परंपरा है। यह परंपरा वैसे ही प्रचलित नहीं है। इसके पीछे भी ठोस वजह है। वास्तु शास्त्र में कई ऐसे पौधों के बारे में जानकारी दी गई है जिन्हें अपने घर में लगाने से सकारात्मक ऊर्जा के साथ सफलता भी मिलने लगती है।

इन पौधों का हमारे जीवन पर गहरा असर होता है। अपराजिता का पौधा भी ऐसा ही है। जिसे लगाने से आपको हर जगह से सफलता के संदेश प्राप्त होने लगेंगे। संस्कृत में इस पौधे को विष्णुप्रिया, विष्णुकांता, गिरिकर्णी, अश्वखुरा कहते हैं।

अपराजिता दो रंग का होता है। इनमें पहला सफेद और दूसरा नीले रंग का। अपराजिता एक बेल होती है। इसे धन बेल भी कहा जाता है। मान्यता है कि जैसे-जैसे अपराजिता की बेल बढ़ती है वैसे-वैसे धन, खुशहाली और संपन्नता बढ़ती है।

धन को करता है अपनी ओर आकर्षित

सफेद रंग का पौधा धनलक्ष्मी को आकर्षित करता है। अपराजिता का पौधा घर में लगाने से व्यक्ति पर किसी प्रकार का संकट आने की संभावनाएं कम हो जाती है। इसे घर में लगाने से सुख शांति बनी रहती है और धन धान्य की कोई कमी नहीं रहती है।

नीली अपराजिता के फायदे

नीली अपराजिता को लोग सुंदरता बढ़ाने के लिए अपने बगीचे में लगाते हैं। यह पौधा भी धन लक्ष्मी को आकर्षित करता है। इसके अलावा घर में नीली अपराजिता लगाने से परिवार के लोगों की बुद्धि तेजी होती है।

साथ ही ऐसी मान्यता भी है कि अगर इसका फूल भगवान विष्णु को चढ़ाया जाए तो परिवार की कभी भी पराजय नहीं होती है। इसके अलावा नीली अपराजिता के फूल शनिदेव को अर्पित करने से शनि की साढ़े साती या महादशा के कारण मिल रहे कष्टों से राहत मिल जाती है।

इस दिशा में लगाएं ये बेल

वास्तु के अनुसार इस बेल को घर की उत्तर दिशा में लगाना फायदेमंद रहते हैं। ऐसा करने से ये शुभ परिणाम देती है और घर में भी खुशहाली बनी रहती है। हालांकि, इस इस बेल को कभी भी पश्चिम या दक्षिण दिशा में नहीं लगाना चाहिए।

News & Image Source :  https://navbharattimes.indiatimes.com/astro/vaastu-fengshui/vastu-tips-for-money-aparajita-plant-for-success-know-benefits-of-blue-aprajita/articleshow/92748393.cms