badh me baha yuvak : लोग देखते ही रहे और बाढ़ में बह गया बैतूल का युवक; सावनेर में बहे पति-पत्नी का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार

◼️ उत्तम मालवीय/विजय सावरकर

बैतूल/मुलताई। मूसलाधार बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। ऐसे में लोगों के बहने का सिलसिला बंद होने का नाम नहीं ले रहा है। सावनेर में 6 और मांडवी में युवक के बहने के बाद बाढ़ में बहने की एक और खबर आई है। बैतूल का एक युवक खंडवा से लौटते समय नाले में आई बाढ़ में बह गया। उसके साथी को लोगों ने किसी तरह बचाया। उधर सावनेर में बहे 6 लोगों में से शेष बचे 3 लोगों के शव भी मिल गए हैं। वहीं कल मिल चुके लोगों का गमगीन माहौल में गांव में अंतिम संस्कार किया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार टिकारी बैतूल निवासी हेमंत राठौर अपने दोस्त के साथ दादाजी के दरबार खंडवा गया था। यह दोनों स्कूटी से गए थे। वापस होते समय खंडवा जिले के रोशनी गांव के पास बारा जोशी के नाले में बाढ़ चल रही थी। दोनों करीब एक बजे यह रपटा पार कर रहे थे। वे लगभग किनारे तक आ चुके थे। इस बीच हेमंत का बैग गिर गया और उसे उठाने के लिये झुका।

उसके झुकते ही वह संतुलन खो बैठा और पानी का तेज बहाव उसे बहा ले गया। बहाव इतना तेज था कि लोग देखते ही रहे और कुछ भी नहीं कर पाए। इधर रपटे के दूसरी ओर खड़े लोगों ने उसके दोस्त को खींच कर सुरक्षित निकाला। समाचार लिखे जाने तक हेमंत का पता नहीं चल सका है। उसकी तलाश जारी है। इस घटना का वीडियो भी वायरल हो रहा है। नीचे देखें हादसे का लाइव वीडियो…

दिवंगत दंपति का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार

उधर महाराष्ट्र की सावनेर तहसील में आने वाले केलवद थाना क्षेत्र के नांदा गौमुख गांव के पास मंगलवार को 6 लोग स्कार्पियो समेत बह गए थे। इस घटना में मौत के मुंह में समाए ग्राम दतोरा निवासी पति-पत्नी का बुधवार शाम को एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया।

इस घटना से ग्राम दतोरा में मंगलवार रात से ही शोक का माहौल है। बुधवार को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर मनाए जाने वाले अखाड़ी पर्व पर भी इस घटना का प्रभाव पड़ा। ग्राम के निवासी भाजपा नेता राजू धोटे ने बताया ग्रामीणों ने बुधवार को अखाड़ी का त्यौहार नहीं मनाया।

Read Also… badh me baha yuvak : नाले की बाढ़ में बहा युवा अनाज व्यापारी, मांडवी की घटना; शाहपुर में बाढ़ उतरी, हाईवे से यातायात शुरू

गौरतलब है कि मंगलवार दोपहर में महाराष्ट्र के सावनेर तहसील के ग्राम नांदागोमुख-छत्रापुर मार्ग पर स्थित नाले में आई बाढ़ की चपेट में आने से स्कॉर्पियो कार बह गई थी। कार में ग्राम दतोरा निवासी मधुकरराव पाटिल उनकी पत्नी निर्मलाबाई पाटिल सहित अन्य रिश्तेदार सवार थे। घटना के बाद मधुकर पाटील उनकी पत्नी निर्मला पाटिल और मधुकर पाटिल की नागपुर निवासी विवाहिता पुत्री रोशनी चौकीकर के शव स्कॉर्पियो वाहन में से निकाल लिए गए थे।

बुधवार को शाम 4 बजे परिजन मधुकर पाटिल और उनकी पत्नी निर्मला के शव लेकर ग्राम दतोरा पहुंचे। शाम में गमगीन माहौल में पति-पत्नी का ग्राम के मोक्ष धाम में एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया। पुत्र विजय पाटिल ने दिवंगत माता पिता की चिता को मुखाग्नि दी। जबकि रोशनी चौकीकर का अंतिम संस्कार नागपुर में किया गया।

शेष तीन लोगों के भी शव बरामद

इनमें से 3 लोगों के शव कल ही बरामद हो गए थे। शेष 3 लोगों के शव भी आज मिल गए हैं। यह सभी बैतूल जिले की मुलताई तहसील के ग्राम दातोरा के थे। महाराष्ट्र सरकार ने मृतकों के परिवार को 4-4 लाख रुपए देने की घोषणा भी की है। कल रोशनी नरेंद्र चौकीकर (32), मधुकर पाटील (55) ग्राम दातोरा मुलताई, निर्मला मधुकर पाटील (60) ग्राम दातोरा मुलताई के शव कल मिल गए थे। आज दर्श नरेन्द्र चौकीकर (13), नीमू आठनेरे निवासी जामगांव और चालक लीलाधर दिवरे (38) के शव भी बरामद हो चुके हैं।

Read Also… दर्दनाक हादसा : बाढ़ में बही स्कार्पियो, छह लोग थे सवार, तीन के शव मिले, मुलताई के दातोरा गांव का है परिवार

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker