Krushi yantro par subsidy : किसानों को कृषि यंत्र खरीदने एमपी सरकार देती है 50% तक अनुदान, नहीं लिया है लाभ तो आज ही करें online आवेदन

मध्य प्रदेश में किसानों को कृषि उपकरण पर अनुदान (subsidy on farm equipment) देने के लिए राज्य सरकार द्वारा मध्य प्रदेश कृषि उपकरण अनुदान योजना (Agricultural Equipment Grant Scheme) की शुरुआत की गयी है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानों को खेती करने के लिए कृषि उपकरण पर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अनुदान (सब्सिडी) राशि प्रदान की जाएगी। ताकि, किसानों को आधुनिक तरीके से खेती (modern farming) करने के लिए नए तकनीकी उपकरण (new technical equipment) उपलब्ध करवाए जा सके। इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसान ऑनलाइन आवेदन (Online Application) कर सरकार की तरफ से सब्सिडी प्राप्त करके खेती करने के लिए अच्छे कृषि उपकरण खरीद सकते हैं।

मध्य प्रदेश कृषि उपकरण अनुदान योजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश के किसानों को राज्य सरकार द्वारा खेती में सहायता पहुँचाने वाली आधुनिक कृषि योग्य उपकरणों के खरीद के लिए 30% से लेकर 50% तक की अनुदान धनराशि प्रदान की जाएगी। इसमें कृषि यंत्रों के हिसाब से आर्थिक मदद दी जाएगी। अगर कोई महिला किसान है तो इसके लिए और ज्यादा रियायत दी जाएगी और उन्हें विशिष्ट लाभ दिया जायेगा। यह कृषि यंत्र पर अनुदान योजना राज्य के किसानों के लिए वरदान साबित होगी। इससे राज्य के किसानों को काफी फायदा होगा। इस योजना के तहत किसानों द्वारा आवेदन करने के बाद कंप्यूटर के द्वारा लॉटरी के माध्यम से जिलेवार किसानों की सूची बनाई जाती है। इसी के आधार पर किसानों को कृषि यंत्र दिए जाते हैं। जिन किसानों का नाम इस मध्य प्रदेश किसान अनुदान योजना लिस्ट में आएगा वह किसान राज्य सरकार द्वारा अनुदान पर कृषि यंत्र ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें… Wheat got rich : देश के किसानों की चमकी किस्मत, MSP से ज्यादा भाव पर बिक रहा है गेहूं, खेतों में ही अच्छी कीमत दे रहे व्यापारी

इन उपकरणों के लिए दिया जाता है अनुदान

मध्य प्रदेश कृषि उपकरण अनुदान योजना के तहत बहुत सारे कृषि उपकरण पर अनुदान दिया जायेगा। जिसमें विद्युत पंप सेट, डीजल पंप सेट, पाइपलाइन सेट, ड्रिप सिस्टम, स्प्रिंकलर सेट, रेन गन सिस्टम, लेजर लैंड लेवलर, रोटावेटर, पावर टिलर, रेज्ड बेड प्लांटर, ट्रैक्टर (20 हॉर्स पावर से अधिक), ट्रैक्टर चलित रीपर कम बाइंडर, स्वचालित रीपर, ट्रैक्टर माउंटेड/ऑपरेटेड स्प्रेयर, मल्टीक्रॉप थ्रेशर/एक्सियल फ्लो पैडी थ्रेशर, पैड़ी ट्रांसप्लांटर, सीड ड्रिल, रीपर कम बाइंडर, हैप्पी सीडर, जीरो टिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, रेस्ट बेड प्लांटर विद इनक्लाइंड प्लेट प्लांटर एंड शेपर, पावर हैरो, पावर वीडर (इंजन चालित 2 बीएचपी से अधिक), मल्टी क्रॉप प्लांट्स, छोटे ट्रैक्टर (20 हॉर्स पावर तक), मल्चर, श्रेडर आदि शामिल हैं।

यह भी पढ़ें… When Thresher Became Cooler : किसान ने ठंडी हवा के लिए किया ऐसा देसी जुगाड़ कि लोग हो गए दीवाने, लेने लगे सेल्फी

योजना का यह है उद्देश्य

मध्य प्रदेश कृषि उपकरण अनुदान योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को कृषि के अच्छे उपकरण खरीदने में अनुदान धनराशि प्रदान कर आधुनिक तरीके से खेती करने में सहायता प्रदान करना है। ताकि, राज्य के किसान फसल की अच्छी पैदावार कर सके और आत्मनिर्भर बन सके। इस योजना के जरिये किसानों की आय में भी वृद्धि होगी। मध्य प्रदेश के किसान इस योजना के तहत सब्सिडी प्राप्त करके नई तकनीक के साथ खेती कर सकते हैं।

योजना का लाभ लेने यह दस्तावेज जरूरी

मध्य प्रदेश कृषि उपकरण अनुदान योजना के तहत लाभ लेने के लिए आवेदक के पास जरुरी दस्तावेजों के रूप में आधार कार्ड, बैंक खाता, जाति प्रमाण पत्र (केवल अनुसूचित जाति एवं जनजाति के कृषक हेतु), बी-1 की प्रति, बिजली कनेक्शन का प्रमाण, मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो आदि की आवश्यकता होगी।

यह भी पढ़ें… किसान भाई ध्यान दें… सभी प्रकार की खाद की दरें निर्धारित, इनसे अधिक पर कोई बेचें तो इन नंबरों पर करें शिकायत

ऐसे कर सकते हैं आवेदन

राज्य के इच्छुक किसान मध्य प्रदेश कृषि उपकरण अनुदान योजना के तहत सरकार द्वारा सब्सिडी प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आवेदक को किसान कल्याण तथा कृषि विकास एवं उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग की आधिकारिक वेबसाइट https://dbt.mpdage.org/index.htm पर जाएं। वेबसाइट के होम पेज पर कृषि यंत्र कृषि अभियांत्रिकी संचालनालय में आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक करें।

इसके बाद नए पेज पर आवेदन फॉर्म खुलेगा, इस फॉर्म में अपनी पसंद के आधार पर बायोमेट्रिक के माध्यम से या बायोमेट्रिक के बिना विकल्प का चयन करें। फिर मांगी गयी सभी जानकारियों को सही से भरें और फिर कैप्चर फिंगर के बटन पर क्लिक करें। सफल पंजीकरण के बाद, सिस्टम द्वारा जनरेट किया गया एप्लिकेशन नंबर दिखाई देगा, इसे भविष्य के लिए सुरक्षित करके रख लें।

यह भी पढ़ें… Kab kare buaai: किसान भाइयों के लिए जरूरी खबर, बुआई करने से पहले पढ़ लें कृषि विभाग की यह उपयोगी सलाह