Urban body election: यहां देखें प्रदेश के किस नगरीय निकाय में कब होंगे चुनाव, एमपी में 6 और 13 जुलाई को होगा मतदान, मतगणना 17 और 18 को; राज्य चुनाव आयुक्त ने किया ऐलान

यहां देखें प्रदेश के किस नगरीय निकाय में कब होंगे चुनाव, एमपी में 6 और 13 जुलाई को होगा मतदान, मतगणना 17 और 18 को; राज्य चुनाव आयुक्त ने किया ऐलान

भोपाल। नगरीय निकायों के वार्ड, नगर पालिका और नगर परिषद के अध्यक्ष पदों का आरक्षण होने के बाद अब राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा कर दी है। मध्यप्रदेश में 2 चरणों में 6 और 13 जुलाई को चुनाव होंगे वहीं मतगणना 17 और 18 जुलाई को होगी। मुख्‍य निर्वाचन पदाधिकारी बसंत प्रताप सिंह ने आज आयोजित पत्रकार वार्ता में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की। नीचे सूची में देखें प्रदेश में कब किस निकाय में होंगे चुनाव…

उन्होंने बताया कि 318 नगरीय निकायों में कराए जाएंगे चुनाव, 35 नवगठित नगर परिषद में 29 अभी चुनाव कराए जाएंगे 402 नगरीय निकायों की मतदाता सूची का प्रकाशन कर दिया है। नगर पालिका गढ़ाकोटा और खुरई मलाजखंड इनका क्षेत्र विस्तार है या कटौती की गई है। इनमें वार्ड विभाजन अभी नहीं हुआ है। इसलिए इनके भी चुनाव नहीं कराए जाएंगे। अभी मतदाता सूची फाइनल होगी।

नगर निगम में 884 वार्ड, 76 नगर पालिका में 1795 वार्ड, पूर्व से गठित 226 नगर परिषद हैं। इनके वार्ड 3393 और नवगठित 29 परिषद में 435 वार्ड हैं। महापौर का चुनाव सीधे जनता से होगा। जबकि नगर परिषद और नगर पालिका में पार्षदों के माध्यम से चुनाव होगा। पहले चरण में 11 नगर निगम 36 नगर पालिका 86 नगर परिषद का चुनाव होगा। कुल 133 नगरीय निकायों का चुनाव होगा। 13148 मतदान केंद्र होंगे। दूसरे चरण में नगर निगम 5 नगरपालिका 40 और 169 नगर परिषद के चुनाव कराए जाएंगे। 

कुल 347 नगरीय निकायों में चुनाव कराया जाएगा। 11 जिलों में एक ही चरण में चुनाव संपन्न होगा। 38 जिलों में 2 चरणों में चुनाव होगा। तीन जिलों में चुनाव नहीं होगा। यहां नगरीय निकायों का कार्यकाल पूरा नहीं हुआ है। ये हैं अलीराजपुर, मंडला और डिंडोरी। कुल 19972 मतदान केंद्रों पर चुनाव कराया जाएगा। 87937 कर्मचारी चुनाव कराएंगे। पहली बार पार्षद के लिए व्यय सीमा निर्धारित की गई है। मतदाताओं को नोटा का अधिकार मिलेगा। अभ्यर्थियों को शपथ पत्र देना होगा आपराधिक रिकॉर्ड का विवरण भी देना होगा।सुबह 7:00 से शाम 5:00 बजे तक मतदान होगा। रिटर्निंग ऑफिसर मुख्यालय पर मतगणना की जाएगी। भोपाल और इंदौर नगर निगम की प्रत्येक वार्ड के लिए पांच प्रतिशत ईवीएम रिजर्व रखी जाएंगी। मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दल के अभ्यर्थियों को आरक्षित प्रतीक चिन्ह आवंटित किए जाएंगे। ऑनलाइन नामांकन किया जा सकेगा। झूठा शपथपत्र देने पर छह माह की सजा 25000 का जुर्माना का प्रविधान है। आचार संहिता परिणाम घोषित होने तक प्रभावी रहेगी। नगरीय क्षेत्रों में 11 जून को चुनाव की अधिसूचना जारी होगी और इसके साथ नामांकन दाखिल करने का सिलसिला प्रारंभ हो जाएगा।  18 जून को नामांकन प्राप्त करने की अंतिम तारीख रहेगी। नामांकन पत्रों की जांच 20 जून को होगी।  नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 22 जून में रहेगी। 22 जून को ही प्रतीक चिन्हों का आवंटन हो जाएगा। प्रथम चरण का मतदान 6 जुलाई को होगा। हमारी सभी तैयारियां हो चुकी हैं। मतदाता सूची, मतदान केंद्र, इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन की जांच से लेकर अन्य सभी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं। चुनाव दो चरणों में कराए जाएंगे। महापौर का चुनाव अब सीधे जनता करेगी। वहीं, नगर पालिका और नगर परिषद के अध्यक्ष का चुनाव पार्षदों के माध्यम से कराया जाएगा। इसके लिए सरकार मध्य प्रदेश नगर पालिका विधि (संशोधन) अध्यादेश 2022 अधिसूचित कर चुकी है।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.