Panchayat Election : बैतूल जिले के यह 180 पूर्व सरपंच नहीं लड़ सकेंगे चुनाव, इसलिए किया गया है इन्हें अयोग्य घोषित

Panchayat Election 2022: These 180 former sarpanches of Betul district will not be able to contest elections, so they have been disqualified

बैतूल। पंचायत चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। ऐसे में पंच, सरपंच, जनपद सदस्य, अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य और अध्यक्ष बनने के दावेदार नेता भी तैयारी में पूरी ताकत से जुट चुके हैं। लेकिन, जिले के 180 पूर्व सरपंच इन चुनावों में अपनी किस्मत ही नहीं आजमा पाएंगे। इसकी वजह है आर्थिक अनियमितता के मामलों में मप्र पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा 92/89 में दर्ज प्रकरणों में पारित आदेशों में तय की गई वसूली की राशि जमा नहीं किया जाना और न्यायालयीन प्रकरण प्रचलन में होना। इसी के चलते बैतूल जिले के इन 180 पूर्व सरपंचों को धारा 36 के तहत पंचायत चुनाव लड़ने से अयोग्य घोषित किया गया है। अयोग्य घोषित किये गये पूर्व सरपंचों पर लाखों रूपए वसूली की राशि लंबित है। साथ ही कुछ सरपंचों को वित्तीय अनियमितता के प्रकरणों में पद से पृथक किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें… पंचायत निर्वाचन : बैतूल जिले में जिला एवं जनपद सदस्यों और पंच-सरपंचों के लिए इन स्थानों पर जमा होंगे नाम निर्देशन पत्र, यहां देखें हर सेक्टर की विस्तृत जानकारी 

भैंसदेही जनपद क्षेत्र के सबसे ज्यादा 

आर्थिक अनियमितता एवं भ्रष्टाचार के प्रकरणों में विधिक प्राधिकारी द्वारा फ्रेमअप की गई वसूली की राशि जमा नहीं करने वाले लगभग 180 पूर्व सरपंच पंचायत आम निर्वाचन 2022 में पंचायत प्रतिनिधि के किसी पद के लिए भी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। चुनाव के लिए अयोग्य घोषित किये गये पूर्व सरपंचों में सर्वाधिक भैंसदेही जनपद के 40 पूर्व सरपंच शामिल हैं। इसके अलावा भीमपुर के 34, आठनेर के 24, चिचोली के 23, बैतूल के 20, आमला के 10, प्रभातपट्टन के 9, घोड़ाडोंगरी के 8 तथा मुलताई व शाहपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के 6-6, पूर्व सरपंच पंचायत निर्वाचन 2022 में पंच, सरपंच, जनपद व जिला पंचायत सदस्य पद के लिए चुनाव नहीं लड़ पायेंगे।

यह भी पढ़ें… पंचायत चुनाव का ऐलान : प्रदेश में 25 जून, एक जुलाई और 8 जुलाई को होगा मतदान

ये पूर्व सरपंच नहीं लड़ पायेंगे चुनाव

पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 199 की धारा 36 के तहत जिन पूर्व सरपंचों को पंचायत चुनाव लड़ने से अयोग्य घोषित किया है उनमें आमला जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच नीलेश मालवीय, राजेश छेरकी, गणेश डोंगरे, उमाशंकर गावंडे, फदाली धुर्वे, सुनीता शेखर कौशिक, कुमारी सोनू परते, श्रीमति सरोज पंवार, श्रीमति शांता बाई छेरकी, श्रीमति शकुन, आठनेर जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच सोहन श्यामू, चिरोंजीलाल कुमरे, ललिता मौसिक, जारो रोहना कास्दे, महेश्वरी इवने, नागोराव बारस्कर, सावित्री बाई कास्दे, सुगाय कास्दे, ललिता मौसिक, चिरोंजीलाल कास्दे, ललिता, लीलावती, सावित्री बाई, कलाबाई परते, रेवा इरपाचे शारदा सरियाम, रामदास गंगूबाई, वंदना वाडीवा, चन्द्रकला ईश्वर धुर्वे, निशा मौसिक, जनपद पंचायत बैतूल के पूर्व सरपंच शकुन्तला, मालती बाई, संगीता श्रीधर, ताराबाई इंगरे, भागरती बाई, माधवराव सराटकर, देवानंद गाड़गे, चन्द्रकला सरले, सोनू यादव, संजय धोटे, संजू धुर्वे, राजेन्द्र पोटफोड़े, कल्पना चंदेलकर, शिवराम घंगारे, केवलबाई कापसे, गीता कुमरे, राजेन्द्र गायकी, फुलाबाई, ऊषा बाई यादव, संजय धोटे, भैंसदेही जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच छोटू उईके, धर्मराज कास्देकर, उर्मिला तुकाराम, ओमलता, कालू लोखण्डे, धर्मराज महाले, नंदराम इवने, छोटू उईके, विजय धाड़से, रंगू मर्सकोले, नंदलाल इवने, दाराजन सोनारे, गंगाय मासोदकर, भागाबाई मासोदकर, बसंती बाई धुर्वे, विजय धाड़से, मीराबाई अड़लक, परसराम मोतीराम, फूलवंती परते, गंगाय झोले, बुधिया जावरकर, भजन सिंह मर्सकोले, मलाय बाई, परतीलाल बारस्कर, कांता, मीना कास्देकर, नंदलाल इवने, सुनीता रमेश बराहे, भूता बारस्कर, धर्मराज कास्देकर, छोटू उईके, रिजमू बारस्कर, तुलसाबाई उईके, नाकूबाई, प्रमिला बारस्कर, ललसू इवने, झमिया बाई, बटरोबाई, चिचोली जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच रैना बाई, कला प्रकाश उमरे, ढीमू इवने, रंगलाल चौहान, भागरती धोटे, सोनू उईके, बबीता कुमरे, रामसनी कलमे, धर्मदास उईके, प्रियंका इवने, ललीता धुर्वे, गीता काजले, मुंशी चौहान, जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी क्षेत्र के पूर्व सरपंच भागरती अखण्डे, रामप्रसाद काकोड़िया, गंगाबाई मरकाम, रूखमणी उईके, कमल परते, सोनाराय चौहान, अमरचंद चक्रवाहन, मुलताई जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच शीला बोबड़े, किरण सत्येन्द्र रघुवंशी, कृष्णा विश्वकर्मा, मंदा बट्टी, यशवंतराव खासदेव, जनपद पंचायत प्रभापट्टन क्षेत्र के पूर्व सरपंच शीतल बामने, शेषराव अहाके, देवीदास काकोड़े, पूर्णा बाई, महादेव पंडाग्रे, सनोता कवड़े, चंदा ठाकरे, सुनीता रमेश वराहे, आनंदराव उईके, शाहपुर जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच सुकल सिंह, दसरू धुर्वे, रामकिशोर उईके, भागरती मर्सकोले, विनोद उईके, रिजमू बारस्कर, मीनाक्षी धुर्वे, सुक्कन, बसंती परते, भीमपुर जनपद क्षेत्र के पूर्व सरपंच चिक्कू टेकाम, कोलईबाई, बुकली बाई, सुनील सलामे, सोनाजी चौहान, ग्यारसी बाई, चन्द्रकिशोर पांसे, रामकला बाई, पतिराम बारस्कर, नामू बाई, श्रीमति नत्थो बाई, ललिता नर्रे, सुनीता मनोहर नर्रे, यशोदा, श्रीमति उर्मिला चैतराम, उर्मिला बाई, रामा गुरू, सकलू बीढू, भैय्यालाल मुंशी, पूसा बाई, कायलो बाई, यशोदा धुर्वे, शिवलाल धोटे, हीरासिंग धुर्वे, नत्थोबाई, मंजू परते शामिल हैं।

• साभार : राष्ट्रीय जनादेश

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.