secret story : ट्रेन में दरवाजे के पास की खिड़की क्यों होती है बाकी खिड़कियों से अलग? इसके पीछे है यह वजह…

Why is the window near the door in a train different from the rest of the windows? The reason behind this is...

भारत में ट्रेन से यात्रा करना सबसे सरल और सुविधाजनक माना जाता है. ट्रेन का नेटवर्क भारत के दूर-दराज इलाकों में फैला हुआ है. चाहे अमीर हो या गरीब हर किसी के बजट में ट्रेन की टिकट मौजूद है. फर्स्ट क्लास में यात्रा करते हुए आप हवाई जहाज की यात्रा जैसी सुविधाओं का लुत्फ़ उठा सकते हैं. वहीं जनरल और स्लीपर गरीब लोगों के बजट में आ जाता है. लेकिन रेल से यात्रा करते हुए ऐसी कई चीजें हैं जो दिमाग पर जोर डालने के लिए मजबूर कर देती हैं. आपने ट्रेन से काफी बार ट्रेवल किया होगा लेकिन क्या आपने कभी ये देखा है कि ट्रेन में दरवाजे के पास की खिड़की बाकी की खिड़कियों से अलग होती है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक़, भारत में हर दिन दिन करीब दस करोड़ लोग ट्रेन से यात्रा करते हैं. ट्रेन क टिकट बुक होने के बाद सीट अलॉट किये जाते हैं. लेकिन क्या अपने कभी ये नोटिस किया है कि ट्रेन में दरवाजे के पास की सीट के पास की खिड़कियां ट्रेन के बाकी खिड़कियों से अलग होते हैं. लेकिन ऐसा यूं ही नहीं है. लगभग सारे ट्रेन्स में ऐसा ही होता है. चाहे किसी भी ट्रेन को देख लें उनकी खिड़कियों का ये डिफ़रेंस आपको नजर आ जाएगा. लेकिन इसकी वजह ज्यादा लोगों को नहीं पता है. आज हम आपको इसकी वजह बताने जा रहे हैं.

लगाए जाते हैं ज्यादा सरिया

ट्रेन में कई तरह की बोगियां होती है. इसमें एयरकंडीशनर से लेकर स्लीपर और जनरल बोगियां होती हैं. इसमें अगर एसी बोगी को छोड़ दें, तो बाकि सबकी खिड़कियां एक ही पैटर्न में बनी होती है. सिर्फ दरवाजे के पास की खिड़की में बाकी के मुकाबले ज्यादा सरिया लगे होते हैं. जहां दूसरी खिड़कियों में थोड़े स्पेस के साथ सरिया लगाए जाते हैं, वहीं जो खिड़की दरवाजे के पास होते हैं, उसमें ज्यादा सरिया होते हैं. इसके अंदर से कोई चीज बाहर करना पॉसिबल नहीं होता.

ये है इसकी वजह

अब आप सोच रहे होंगे कि सिर्फ दरवाजे की खिड़की में ज्यादा सरिया लगाने की क्या वजह हो सकती है? दरअसल, इसी खिड़की से सामान के चोरी होने के ज्यादा चान्सेस होते हैं. जब यात्री सो जाते थे तब दरवाजे के पास की खिड़की से ही चोर सबसे ज्यादा सामान चोरी किया करते थे. ऐसे में चोरों से लोगों के सामान को बचाने के लिए ही इसकी खिड़कियों में ज्यादा सरिया लगाए गए ताकि चोर खिड़की से सामान चुराकर भाग ना पाएं. तो अब आप समझ गए ना कि सिर्फ और सिर्फ सुरक्षा की दृष्टि से इन खिड़कियों में ज्यादा सरिया लगाए गए हैं.

👉 ‘बैतूल अपडेट’ की खबरें तत्काल प्राप्त करने के लिए हमारे इंस्टाग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें। ग्रुप ज्वाइन करने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें…👇
https://t.me/+k1Riayq0QzZhYWJl

 

News & Image Source :  https://hindi.news18.com/news/ajab-gajab/do-you-know-why-trains-window-near-doors-are-different-from-rest-sankri-4277021.html

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.