Road Safety : कलेक्टर बोले- सड़क हादसे रोकने सभी सुरक्षात्मक उपाय अपनाए जाएं, दुकानों के सामने सामान रखने की प्रवृत्ति पर लगाएं रोक

Collector said - all protective measures should be adopted to prevent road accidents, stop the tendency of keeping goods in front of shops

◼️ उत्तम मालवीय, बैतूल
road safety committee meeting : बैतूल कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने जिले में लगातार हो रही सड़क दुर्घटनाओं पर चिंता व्यक्त की है। गुरुवार को आयोजित सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटनाएं रोकने के लिए तमाम सुरक्षात्मक उपाय अपनाए जाएं। सड़कों पर आवश्यक संकेत चिन्ह लगे हों। दुर्घटना संभावित क्षेत्रों में रात्रिकालीन प्रकाश व्यवस्था हो। एंबुलेंस एवं आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं तत्परता से उपलब्ध रहें। लोगों को यातायात नियमों का पालन करने के लिए जागरूक किया जाए। बैठक में पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद, जिला परिवहन अधिकारी रंजना सिंह कुशवाहा सहित संबंधित अधिकारी एवं समिति सदस्य मौजूद थे।

बैठक में नेशनल हाईवे, लेहड़दा घाट, रानीपुर रोड सहित अन्य दुर्घटना संभावित सड़कों पर विगत दिनों हुई सड़क दुर्घटनाओं के कारणों पर भी गंभीरता से चर्चा की गई। साथ ही भीमपुर में हुई ट्रैक्टर दुर्घटना को भी चर्चा के बिंदुओं में शामिल किया गया। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि सड़क निर्माण कार्य से जुड़े समस्त विभाग, समस्त अधिकारी सड़कों के किनारों की स्थिति का भौतिक सत्यापन करें। जहां सड़कों के किनारे उचित शोल्डर नहीं बनाए गए हैं, वहां शोल्डर बनाए जाएं। यह ध्यान रखा जाएं कि शोल्डर निर्माण की कमी के कारण दुर्घटनाएं न हों। लापरवाही से अथवा बिना लाइसेंस के वाहन चलाने वालों पर प्रभावी चालानी कार्रवाई की जाएं। हाईवे पर गलत साइड चलने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई हो।

Supervision : कलेक्टर बोले- दो से तीन फीट और गहरा होना था इंटकवेल, और देरी होने पर लगेगी ठेकेदार पर पेनाल्टी

बैठक में पुलिस अधीक्षक सुश्री प्रसाद ने कहा कि सड़क दुर्घटना होने की दशा में पीड़ितों के जीवन रक्षा के लिए तत्परता से प्रभावी प्रयास हों। इसके लिए स्थानीय स्तर पर ग्रामीणों को भी आपातकालीन सहायता व्यवस्था के प्रति जागरूक किया जाएं एवं उन्हें आपातकालीन दूरभाष नंबर भी उपलब्ध कराए जाएं।

तल्ख अंदाज में कलेक्टर बोले- जब मेरी मीटिंग में यह हाल तो कैसे होती होगी डीपीओ की बैठक, पांच पीओ को शोकॉज नोटिस

बैठक में वर्षा ऋतु के दौरान यात्री बसों एवं अन्य वाहनों के सावधानीपूर्वक व सुरक्षित संचालन करने के प्रति सचेत करने, बाढ़ एवं अतिवृष्टि के समय जलमग्न सड़कों, पुल-पुलियाओं से वाहन नहीं निकालने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिए गए। ट्रैक्टर ट्रालियों एवं अन्य व्यावसायिक वाहनों में रिफ्लेक्टर लगवाने की कार्रवाई सतत की जाएं। साथ ही कहा गया कि बाजारों में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के सामने दुकानदारों की सामान रखने की प्रवृत्ति पर रोक लगाई जाएं, ताकि बाजारों में सड़कें यातायात के लिए खाली रहें।

Penalty : कलेक्टर ने ट्रांसपोर्टरों पर 28520 रुपए का लगाया जुर्माना, राशन परिवहन में की थी देरी

बैठक में जिला परिवहन अधिकारी रंजना सिंह कुशवाहा ने बताया कि विभाग द्वारा विगत दिनों जिले के व्यावसायिक वाहन चालकों का नि:शुल्क नेत्र परीक्षण कराए जाने अभियान चलाया गया। जिसके तहत 76 चालकों का नेत्र परीक्षण कराया गया। नर्सिंग होम एवं स्कूलों के सामने सुव्यवस्थित पार्किंग व्यवस्था के लिए प्रयास किए गए हैं। मैरिज गार्डन्स की पार्किंग को भी सुव्यवस्थित बनाया गया है।

क्या देख और सुनकर जब कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस पूछ बैठे, ‘यह इतनी ही आवाज करती है क्या…?’

यातायात पुलिस द्वारा तेज गति से वाहन चलाने वालों के विरूद्ध 184 चालान बनाकर एक लाख 86 हजार रुपए का शमन शुल्क वसूला गया है। जिला परिवहन कार्यालय द्वारा शराब पीकर वाहन चलाने वाले 23 वाहन चालकों के लाइसेंस निलंबित किए गए। साथ ही यातायात पुलिस द्वारा आठ वाहन चालकों के विरूद्ध कार्रवाई कर प्रकरण न्यायालय में प्रस्तुत किए गए। वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग करने वाले 14 वाहन चालकों के विरूद्ध चालान बनाकर सात हजार शमन शुल्क वसूला गया। दुर्घटना रोकने के दृष्टिगत 165 ट्रैक्टर ट्रालियों में रिफ्लेक्टर लगवाए गए। यह कार्रवाई निरंतर जारी है।

Overpriced : शराब के वसूले थे निर्धारित से अधिक दाम, कलेक्टर ने एक दिन के लिए किया लाइसेंस निलंबित, 10 हजार का जुर्माना भी ठोका

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

3 Comments
  1. Hiralal Dongare says

    रेपिस्ट पर मेडिकली साबित होने तथा पुलिस द्वारा पुष्टी होने पर उसके साथ ऐसी दिल दहला देने कार्यवाही हो कि, इस तरह के जुर्म को अंन्जाम देने वाला को लगे की मै इस तरह का कोई जुर्म नही करूगां.

  2. dhanraj pal says

    जिस भी स्थान पर दुर्घटना हो रही है उस स्थान का मूल्यांकन कर पता किया जाय इस स्थान पर कोई मंदिर या मजार तो पुरानी नही थी यदि ऐसे स्थान पर भगवान की मूर्ति या हनुमान जी का झंडा लगा दिया जाय जिससे की लोग वहा से गुजरते है तो स्प्रिट कम कर देगे और हॉर्न बजाकर निकले जिसे सामने वाला स्त्रक हो जायेगा जय माता दी काली दरबार समिति खेड़ी से धनराज पाल

Leave A Reply

Your email address will not be published.