स्टेडियम या युद्ध का मैदान : बाल और बैट की जगह जमकर चले पत्थर, पुलिस और एसएएफ जवानों ने पाया काबू

Stadium or battlefield: Stones moved instead of ball and bat, police and SAF jawans found control

• उत्तम मालवीय, बैतूल

बैतूल के लालबहादुर शास्त्री स्टेडियम में इन दिनों रात्रिकालीन क्रिकेट टूर्नामेंट चल रहा है। जहां बीती रात दो पक्षों के बीच जमकर विवाद हो गया। इस बीच कुछ उपद्रवी तत्वों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। देखते ही देखते दोनो तरफ से पत्थरों की बारिश होने लगी। पत्थरबाजी के बीच पूरे इलाके में दहशत फैल गई। इससे आसपास के दुकानदार भी दुकान बंद करके भागने को मजबूर हो गए।

इस बीच टीआई अपाला सिंह (कोतवाली) और सतीश अंधवान (गंज) के नेतृत्व में शहर के दोनों थानों से पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। जिससे भगदड़ मच गई। पुलिस को देखते ही पत्थरबाजी तो रुक गई, लेकिन सैकड़ों युवक आपस में उलझ रहे थे। इसे देखते हुए रक्षित केंद्र से एसएएफ के जवानों को भी बुला लिया गया। जिन्होंने आते ही भीड़ को तितर बितर किया। लगभग एक घण्टे के भीतर पुलिस ने स्थिति को काबू में कर लिया। देखें वीडियो…👇

प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि खेल मैदान की दर्शक दीर्घा में बैठे कुछ युवकों के बीच जगह को लेकर बहस हुई। इसके बाद फिर मारपीट शुरू हो गई। जिसके बाद एक पक्ष के युवकों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। रात्रिकालीन टेनिस बॉल क्रिकेट टूर्नामेंट में अब तक कोई विवाद नहीं हुआ था। लेकिन इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने फिलहाल टूर्नामेंट पर रोक लगा दी है।

इस संबंध में कोतवाली टीआई अपाला सिंह ने बताया कि कोई शिकायत नहीं आने से किसी के खिलाफ कोई प्रकरण दर्ज नहीं किया है। स्थिति पर नियंत्रण करने के साथ ही सभी को समझाइश दे दी गई थी। साथ ही कमेटी भी लिखित में दे रही है कि अब मैच नहीं करवाए जाएंगे।

Life Insurance : जीवन बीमा को लेकर लापरवाह रवैया खतरनाक : परिवार को भुगतना पड़ता है इसका खामियाजा, हर किसी को लेनी चाहिए पॉलिसी

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.