बैतूल जिले की स्थापना के 200 वर्ष पूर्ण : ‘एक शाम बैतूल के नाम’ कार्यक्रम में बच्चों की प्रस्तुतियों ने किया मंत्रमुग्ध

200 years of the establishment of Betul district completed: Children's presentations in the program 'Ek Sham Betul Ke Naam' enchanted

• उत्तम मालवीय, बैतूल
बैतूल जिले की स्थापना के 200 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर रविवार की शाम ओपन ऑडिटोरियम में ‘एक शाम बैतूल के नाम’ कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में विधायक बैतूल निलय डागा, कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस,  एसपी सिमाला प्रसाद, सीईओ जिपं अभिलाष मिश्रा सहित नागरिकगण उपस्थित थे।

कार्यक्रम का शुभारंभ विधायक श्री डागा एवं कलेक्टर श्री बैंस द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत में ‘मैं हूँ बैतूल मेरी कहानी’ डॉक्यूमेंट्री प्रस्तुत की गई। कार्यक्रम में असाड़ी चिचोली के आदिवासी लोकनृत्य दल द्वारा कौड़ी नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

इसके अलावा कु. श्रेयाणी सोनी एवं कु. वंशिका माहेश्वरी द्वारा भरत नाट्यम की आकर्षक प्रस्तुति भी दी गई। कु. अप्सरा राठौर एवं कु. वैदेही वर्मा ग्रुप द्वारा लावणी नृत्य तथा कु. प्रज्ञा झगेकर द्वारा लावणी एवं मल्हार नृत्य प्रस्तुत किया गया। जिसको दर्शकों द्वारा तालियां बजाकर सराहा गया।  देखें वीडियो 👇


कार्यक्रम में जिले के कवि अखिलेश परिहार, सुनील पांसे एवं मनोज शुक्ला द्वारा काव्यपाठ किया गया। इसके साथ ही कमलेश सिंह एवं रामकिशोर पंवार द्वारा जिले के इतिहास, संस्कृति एवं भूगोल पर वैचारिक उद्बोधन प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्यामदेव ब्राह्मणे ने किया। अंत में सीएमओ अक्षत बुंदेला ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर शासकीय भवनों पर रोशनी भी की गई।

इसके पूर्व रविवार की सुबह ओपन ऑडिटोरियम से अभिनन्दन सरोवर तक साइकिल रैली निकाली गई। इस अवसर पर सांसद डीडी उइके, कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस, एसपी सिमाला प्रसाद, सीईओ जिपं अभिलाष मिश्रा, सीएमओ अक्षत बुंदेला सहित नागरिकगण उपस्थित थे। अभिनंदन सरोवर परिसर में सांसद श्री उइके, कलेक्टर श्री बैंस एवं एसपी सुश्री प्रसाद ने पौधरोपण किया।

उपेक्षा : पांच साल का कठोर कारावास भुगतने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के परिजनों का नहीं हुआ सम्मान

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.