lunar eclipse : सोमवार को चार सदी बाद होगी यह विशेष खगोलीय घटना, एक ही साल में समान पूर्णता की अवधि वाले दो में से पहला चंद्र ग्रहण होगा

Lunar eclipse: This special astronomical event will happen after four centuries on Monday, will be the first of two lunar eclipses with the same completion period in the same year

• उत्तम मालवीय, बैतूल
lunar eclipse : सोमवार (16 मई) बुद्ध पूर्णिमा की सुबह विशेष खगोलीय घटना होगी। उस समय जब चंद्रमा आपसे विदा लेकर पश्चिमी देशों में उदित हो रहा होगा तब उन देशाें में चंद्रमा पर पृथ्वी की घनी छाया पड़ने से पूर्ण चंद्रग्रहण की घटना होगी। यही नहीं चंद्रमा तब तामिया लाल रंग का दिख रहा होगा। इसे ब्लड मून (blood Moon) का नाम दिया गया है। भारत सरकार का नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने साल के पहले चंद्रग्रहण की खास बातों की जानकारी दी है।

सारिका ने बताया कि पूर्ण चंद्रग्रहण (Total Lunar Eclipse) की यह घटना नार्थ और साउथ अमेरिका के अलावा यूरोप और अफ्रीका के कुछ भागों में दिखाई देगी। यह वेस्ट कोस्ट में शाम 8 से 11 बजे के प्राइम टाईम के बीच पड़ने वाला इस सदी का सबसे लंबी अवधि का पूर्ण ग्रहण होगा। इसलिये इसे सेंचुरी का लांगेस्ट प्राइम टाईम टोटेलिटी (Longest Prime Time Totality) कहा जा रहा है। पूर्णता की अवधि 1 घंटे 25 मिनिट होगी। नीचे दिए वीडियो में सारिका से सुने चंद्र ग्रहण की जानकारी…👇

सारिका ने बताया कि इस साल 8 नवम्बर में पड़ने वाला अगला चंद्र ग्रहण भी 1 घंटे 24 मिनिट 54 सेकंड की टोटेलिटी का होगा। इसलिये यह एक ही कैलेंडर ईयर में पड़ने वाला मोस्ट बेलेंन्स्ड पेयर ऑफ टोटल लुनार इकलिप्स है। यह सन 1661 के बाद होने वाली घटना है जो कि अब आगे 2091 में होगी।

सारिका ने कहा कि यह ग्रहण हालाकि भारत में नहीं दिखेगा। लेकिन, वैश्वीकरण के इस दौर में अनेक भारतीय युवा अमेरिका में हैं। वे जब उनकी शाम के आकाश में ग्रहण देख रहे होंगे तब भारत में बुद्ध पूर्णिमा की सुबह हो चुकी होगी।

• इन प्रमुख शहरों में दिखेगा पूर्ण चंद्रग्रहण: रोम, लंदन, पेरिस, जोहांसबर्ग, वाशिंगटन डीसी, न्यूयार्क, लॉस एंजेलिस, शिकागो।

• ग्रहण की अवस्था : भारत में समय 16 मई 2022 सुबह।

• उप छाया ग्रहण (penumbral eclipse) आरंभ : 07 बजकर 2 मिनिट 5 सेकंड।

• पूर्ण ग्रहण (Total Eclipse) आरंभ : 08 बजकर 59 मिनिट 03 सेकंड।

• पूर्ण ग्रहण (टोटल इकलिप्स) समाप्त : 10 बजकर 23 मिनिट 55 सेकंड।

• उपछाया ग्रहण (पेनुम्ब्रल इकलिप्स) समाप्त : 12 बजकर 20 मिनिट 49 सेकंड।

ग्रहण की खास बातें

• ग्रहण की पूर्ण अवधि : 5 घंटे 19 मिनिट

• पूर्ण ग्रहण की अवधि : 1 घंटा 25 मिनिट

सारिका ने किया अहम खुलासा: पूरी तरह सबेरा होने में लगते हैं इतने मिनट

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.