Hunt : शिक्षक समेत 6 लोगों ने किया जंगली सुअर का शिकार, पार्टी की थी तैयारी कि तभी आ धमकी फॉरेस्ट की टीम, 3 गिरफ्तार

6 people including teacher did wild boar hunt, party was prepared that only then threatened forest team, 3 arrested


• उत्तम मालवीय, बैतूल
बैतूल जिले के उत्तर सामान्य वन मंडल की शाहपुर रेंज अंतर्गत बोंदरी बीट में ग्राम घिसी बागला निवासी एक शिक्षक सहित 6 ग्रामीणों ने बोंदरी के जंगल में फंदा लगाकर एक जंगली सुअर के शावक का शिकार किया। आरोपियों ने सुअर को मारकर उसका मांस भी काट लिया। हालांकि मांस पकाने के पूर्व ही वन अमले ने दबिश दे दी। वन कर्मियों ने मौके से तीन किलो मांस सहित जंगली सुअर की खाल बरामद की है।

तीन आरोपियों को मौके से ही गिरफ्तार किया गया वहीं शिक्षक सहित तीन आरोपी फरार हैं। वन अधिकारियों ने सभी आरोपियों के खिलाफ भारतीय वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9, 39, 51 के तहत अपराध दर्ज कर बुधवार को तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

बोंदरी बीट में पदस्थ वन रक्षक मेघराज यादव ने बताया कि सोमवार को उन्हें मुखबिर ने सूचना दी कि ग्राम घिसीबागला निवासी युवकों ने जंगली सुअर का शिकार किया है। गांव के ही नाना भगत के खेत में आरोपी मांस पकाने की तैयारी कर रहे हैं।

सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम ग्राम घिरी बागला निवासी नाना भगत के खेत पहुंची। यहां टीम को 3 किलो सुअर का मांस, सुअर की खाल के साथ ही 5 जाल भी मिले। टीम ने नाना पिता सदू (62) से पूछताछ की तो उसने बताया कि ग्राम घिसीबागला निवासी एवं प्राथमिक शाला तारमखेड़ा में पदस्थ शिक्षक शिवचरण सलाम, मनीराम पिता गुरदी, कुंवरसिंह पिता झुर्री, मनीराम पिता कारू और मनीष काकोड़िया के साथ मिलकर जंगल में फंदा लगाकर जंगली सुअर का शिकार किया है। टीम ने नाना को हिरासत में ले लिया वहीं गांव से मनीराम पिता गुरदी ( 40 ) और कुंवरसिंह पिता झुर्री (39) को भी हिरासत में ले लिया।

जंगली सुअर के शिकार मामले में फरार 5 आरोपी भी गिरफ्तार

वन विभाग की कार्रवाई की जानकारी मिलते ही शिक्षक शिवचरण सलाम, मनीष काकोड़िया और मनीराम पिता कारु फरार हो गए। वन विभाग ने सभी आरोपियों के खिलाफ भारतीय वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा, 9, 39 और 51 के तहत अपराध दर्ज कर बुधवार को न्याालय में पेश किया। जहां से तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

शिकार के बाद दावत की थी तैयारी, टीम पहुंची तो छोड़ कर भागे

वन विभाग द्वारा तीन फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। इस कार्रवाई में तारा बीट के महेश प्रसाद खरे, बोंदरी बीट के बीआर इवने, मेघराज यादव, बागला बीट के प्रभुदास वरकड़े, ढप्पा बीट के हेमराज टेकाम प्रमुख रूप शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.