Legislator’s Sensitivity : विधायक डॉ. पंडाग्रे की संवेदनशीलता, कार्यकर्ता के बेटे को सांप ने डंसा तो खुद की गाड़ी से लाए जिला अस्पताल

MLA Dr. Pandagre's sensitivity, the worker's son was bitten by a snake and brought to the district hospital by his own car

• उत्तम मालवीय, बैतूल
विधायक-सांसद बन जाने के बाद जिन पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने जीत दिलाई उन्हीं को भूल जाने के आए दिन कई मामले हम देखते रहते हैं। लेकिन, कई नेता इसके ठीक विपरित होते हैं। जीत जाने के बाद वे अपनी पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को और अधिक महत्व देते हैं। वे यह नहीं भूलते कि उनको शिखर तक पहुंचाने में मैदानी स्तर पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका रही है।

MLA dance : वीडियो में देखें, मुझे चढ़ गया भगवा रंग पर जमकर थिरके घोड़ाडोंगरी विधायक ब्रह्मा भलावी

आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे भी इसी श्रेणी में रखे जा सकते हैं। विधायक बनने के बाद भी ना केवल वे अपने कार्यकर्ताओं को पूरी अहमियत देते हैं, बल्कि उनके सुख-दुख में भी सदैव उनके साथ खड़े रहते हैं। कार्यकर्ताओं के प्रति इसी संवेदनशीलता का परिचय उन्होंने एक बार फिर रविवार को दिया।

MP Dance Vedio : होली मिलन समारोह में दिखा सांसद का निराला अंदाज, रंग बरसे गीत पर जमकर झूमे-नाचे, कार्यकर्ता भी पड़ गए अचरज में

दरअसल हुआ यह कि उनकी विधानसभा के ग्राम जंबाड़ी खुर्द में उनकी पार्टी के एक कार्यकर्ता के बेटे मुदित चौहान को कल कुएं पर पानी खींचते समय सांप ने डंस लिया था। परिजन उसे इलाज के लिए आमला अस्पताल लाए थे। आमला विधायक डॉ. पंडाग्रे भी कल आमला में ही एक कार्यक्रम में शामिल थे।

देखें वीडियो… ये देश है वीर जवानों का… पर जमकर झूमे पूर्व मंत्री सुखदेव पांसे

उन्हें जैसे ही इस बारे में खबर मिली, वे तत्काल अस्पताल पहुंचे और बच्चे के हाल चाल जाने। तब तक आमला में आवश्यक प्राथमिक उपचार हो चुका था। बच्चे को बेहतर इलाज मिल सके, इसके लिए बिना कोई देर किए उन्होंने बच्चे को अपनी गाड़ी में बिठाया और जिला अस्पताल बैतूल ले आए। यही नहीं रास्ते में कोई इमरजेंसी की स्थिति में कोई ट्रीटमेंट की जरूरत न पड़ जाए, यह सोचते हुए उन्होंने बैतूल से एंबुलेंस भी बुलवा ली थी।

CM शिवराज का भगोरिया नृत्य: थांदला में आदिवासी ड्रेसअप में ढोल-मांदल की थाप पर जमकर थिरके, पत्नी साधना सिंह भी नजर आईं अलग अंदाज में

इधर जिला अस्पताल आते ही आरएमओ डॉ. रानू वर्मा ने बच्चे का इलाज शुरू कर दिया। इलाज शुरू होने से बच्चे के खतरे से पूरी तरह बाहर आने तक विधायक डॉ. पंडाग्रे खुद भी अस्पताल में ही रहे और वे भी बच्चे की स्थिति पर नजर रखने के साथ ही डॉक्टरों को आवश्यक निर्देश भी देते रहे।

जन्मदिन पर भगवा रंग में रंगे विधायक बैतूल निलय डागा

जिला अस्पताल में समुचित इलाज के बाद अब बच्चा पूरी तरह से खतरे से बाहर है। इधर विधायक डॉ. पंडाग्रे की इस संवेदनशीलता के बारे में जिसे भी जानकारी मिल रही है, वह मुक्त कंठ से उनकी प्रशंसा कर रहा है।