Ram Navami : जय श्रीराम नाम से गूंज उठा आमला शहर, निकली भव्य शोभायात्रा, जगह-जगह हुआ स्वागत-सत्कार

Amla city resonated with the name Jai Shri Ram, a grand procession came out, welcome everywhere

  • अंकित सूर्यवंशी, आमला
    बैतूल जिले के आमला शहर में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी चैत्र रामनवमी पर रविवार को मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। मंदिरों में घंटे, घड़ियाल की आवाज गूंज रही थी वहीं पूरा शहर जय श्री राम से गुंजायमान हो उठा। भगवान राम की आरती के साथ श्रीराम के जयकारे से पूरा क्षेत्र राममय हो गया। उधर, ग्रामीण क्षेत्रों में भी भगवान श्रीराम जन्मोत्सव मनाया गया।

    शहर में भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में हजारोंश्रद्धालुओं शामिल हुए । इस दौरान श्रीराम के जयकारों से पूरा क्षेत्र गूंज उठा। कोरोना काल के 2 वर्ष राम जन्मोत्सव धूमधाम से नहीं मन सका था। लेकिन इस वर्ष राम जन्मोत्सव पर शहर में भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शहर की राम जन्मोत्सव समिति द्वारा विगत कई वर्षों से राम जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है।

    शहर के इतवारी चौक स्थित कृष्ण मंदिर से शोभायात्रा का शुभारंभ हुआ जो कि शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए बस स्टैंड पहुंची। जहाँ उपनगरी बोड़खी की और शहर की शोभायात्राओं का मेल हुआ। इसके बाद भगवान राम की आरती हुई। शोभायात्रा मेन मार्केट, सोनी मोहल्ला होते हुए पुराना थाना स्थित हनुमान मंदिर पहुंची जहाँ श्री राम व हनुमान की आरती के बाद प्रसादी वितरण कर शोभायात्रा का समापन हुआ।

    शहर सहित उपनगरी बोड़खी की शोभायात्रा का तमाम संगठनों द्वारा जगह-जगह स्वागत किया गया। शहर के बाजार में सब्जी व्यवसायियों द्वारा शोभायात्रा में शामिल शश्रद्धालुओं को फल वितरित किये गए। जनपद चौक पर प्रगतिशील व्यापारी संघ द्वारा फल वितरित किये गए। जबकि पुराने थाने के पास मुश्लिम समुदाय द्वारा भी शोभायात्रा म शामिल श्रद्धालुओं को फल जूस पिलाकर शोभायात्रा का स्वागत किया गया।

    कोरोना काल के 2 वर्ष बाद धूम धाम से मनी रामनवमी

    कोरोना काल के 2 वर्ष राम नवमी नहीं मन सकी थी। जिसके बाद इस वर्ष राम नवमी धूम धाम से मनाई गई। चैत्र नवरात्र शुरू होते ही रामनवमी की तैयारी शुरू हो गई थी। 4 दिन पूर्व से ही शहर में तोरन व झंडे लगाकर शहर को सजाने के कार्य शुरू कर दिया गया था। राम नवमी पर आज शहर के श्रद्धालुओं में अत्यधिक जोश देखा गया और पूरा शहर राम नाम के जयकारों से गूंज उठा।

    जिले की सबसे बड़ी शोभायात्रा होती है शहर की

    वैसे तो पूरे देश में रामनवमी के त्योहार धूम धाम से मनाया जाता है। जिले भर में मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम की झाकियां निकाली जाती है। लेकिन बैतूल जिले में सबसे भव्य शोभायात्रा आमला शहर की होती है। वर्षों से यह शोभायात्रा राम जन्मोत्सव समिति द्वारा निकाली जा रही है।

    हरसिद्धि माता शक्तिपीठ: यहां हर 12 साल में अपना शीश अर्पित करते थे सम्राट विक्रमादित्य, 1101 दीपों से जगमग होता है यह सिद्ध स्थल

  • Leave A Reply

    Your email address will not be published.