tourist spot: क्या पर्यटन स्थल घोषित होंगे बाबा मठारदेव और छोटा महादेव भोपाली, पर्यटन मंत्री से मिले विधायक, रखी मांग

  • प्रकाश सराठे, रानीपुर
    श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव और छोटा महादेव भोपाली को पर्यटन स्थल घोषित किए जाने को लेकर संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर से क्षेत्रीय विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे ने मुलाकात करके उन्हें ज्ञापन सौंपा। सौंपे गए ज्ञापन में इन दोनों स्थानों को पर्यटन स्थल घोषित करने की मांग की है।

    सारनी मंडल के ग्रामीण अध्यक्ष मोहन मोर्य एवं बगडोना समिति के अध्यक्ष संजीव सिंह ने बताया कि क्षेत्रीय विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे के नेतृत्व में विधानसभा के अंतिम दिन पर्यटन एवं सांस्कृतिक मंत्री उषा ठाकुर से मुलाकात करके श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव और छोटा महादेव भोपाली को पर्यटन स्थल घोषित करने की मांग की गई है।

    उन्होंने बताया कि अपने ज्ञापन में डॉक्टर योगेश पंडाग्रे ने कहा कि बैतूल जिले के अलावा पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र से छोटा मठारदेव महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर श्रद्धालु बड़ी संख्या में यहां पर आते हैं। इसके अलावा छोटा मठारदेव भोपाली जनजाति वर्ग के लिए एक प्रमुख तीर्थ स्थल है।

    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के माध्यम से वर्ष 2018 में छोटा महादेव भोपाली और श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव को पर्यटन स्थल घोषित करने के की घोषणा की गई थी। इसके अलावा मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग के तत्कालीन अध्यक्ष तपन भौमिक के माध्यम से बाबा मठारदेव स्थल पर लगभग 24 लाख रुपए की लागत से कुछ निर्माण कार्य भी कराया गया है। ऐसी स्थिति को देखते हुए दोनों स्थानों को पर्यटन स्थल घोषित किया जाना चाहिए। जिससे शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के अलावा दूसरे राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को इसका लाभ मिल सके।

    साथ ही श्री श्री 1008 बाबा मठारदेव और छोटा मठारदेव भोपाली को पर्यटन स्थल घोषित होने पर क्षेत्र के युवाओं को रोजगार के संसाधन भी उपलब्ध होंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में डॉ योगेश पंडाग्रे, संजीव सिंह, मोहन मौर्य, सुरेंद्र नर्रे, दीपक पटेल, रुपेश सिनोटिया, ललित यादव, सतीश हारोड़े, दीपक पटेल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

    विधानसभा सत्र के अंतिम दिन पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्रीमती उषा ठाकुर से उनके निवास पर मुलाकात करके छोटा मठारदेव भोपाली और बाबा मठारदेव को पर्यटन स्थल घोषित कराने की मांग की गई है। इसी को लेकर ज्ञापन भी दिया गया है। यदि सब कुछ ठीक रहा तो दोनों क्षेत्र पर्यटन स्थल घोषित होंगे।
    डॉ. योगेश पंडाग्रे
    विधायक, विधानसभा क्षेत्र आमला-सारणी