दावत देकर कर रहे थे धर्मांतरण का प्रयास, चार पर मामला दर्ज

जागरूक ग्रामीण की सूचना पर पहुंचे हिन्दू संगठन के पदाधिकारी, पुलिस को सौंपा

They were trying to convert by giving a feast, a case was registered against three

  • मनीष राठौर, भैंसदेही
    बैतूल के भैंसदेही क्षेत्र में दावत देकर भोले-भाले लोगों को गुमराह किया जा रहा था। उन्हें हिन्दू धर्म में कई कमजोरियां बताकर अन्य धर्म अपनाने के लिए बरगलाया जा रहा था। एक जागरूक ग्रामीण की सक्रियता से शनिवार को हिन्दू संगठन के पदाधिकारियों ने ऐसा ही एक प्रयास विफल किया। उन्होंने 4 लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया है। चारों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।

    घटना भैंसदेही से 33 किलोमीटर दूर वनग्राम उदामा स्थित एक खेत की है। कोथलकुण्ड गांव के राजू पिता बिसन भलावी (36) ने भैंसदेही थाना में की शिकायत में बताया है कि वह खेती किसानी करता हूँ। 19 फरवरी 2022 को दोपहर 3.15 बजे ग्राम उदामा के सायबु इबने ने मुझे अपने खेत पर खाना खाने बुलाया था। मैं खेत पर गया तो देखा कि वहां महाराष्ट्र के विजय जाधव, रुथ जाधव और बैतूल के डेनी पाउल मौजूद थे। वहाँ करीब 30 लोग उपस्थित थे, जिनको ये लोग हिन्दू धर्म में कमियां बता कर भड़का रहे थे।

    वे बोल रहे थे कि तुम्हारे भगवान में कोई शक्ति नहीं है। वह पत्थर के समान हैं। इस तरह से हमारी धार्मिक भावनाओं को आहत करने के उद्देश्य से उकसा रहे थे। वहाँ पर राजकुमार धोटे, अलकेश राठौर मेरे साथ थे। फिर मैंने घटना की जानकारी अजित त्रिवेदी, शुभम राठौर, गोकुल पंद्राम, महेन्द्रसिंह गौर को दी। इन लोगो ने मेरे धर्म व जाति को अपमानित किया है। इनके खिलाफ कार्यवाही की जाएं।

    यह भी पढ़ें… धर्मांतरण के प्रयास का आरोप, मचाया हंगामा

    पुलिस ने रिपोर्ट पर सायबु इवने उदामा, विजय जाधव निवासी कोठारा थाना परतवाड़ा, रुथ जाधव निवासी कोठारा थाना परतवाड़ा और डेनी पाउल निवासी बैतूल के खिलाफ धारा 295 (ए) के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

    मौके से बरामद किए गए पर्चे

    इस मामले की सूचना मिलने पर एसआई गजेंद्र सिंह चौहान, विष्णु चौहान, अमर चौहान, हेड कांस्टेबल श्री भलावी मौके पर पहुंचे। वहां से बड़ी मात्रा में पर्चे बरामद किए गए हैं। आरोप है कि यहां आसपास के ग्रामों से भीड़ जुटा कर भोले भाले आदिवासियों को बीमारी से छुटकारा और सेवा के नाम पर धर्म परिवर्तन करने के लिए बरगलाया जा रहा था।