सांसद बोले- शून्य से अनंत की यात्रा में जितने अच्छे भाव होंगे, वैसा आपको प्रतिफल मिलेगा 

दैनिक बैतूल एक्सप्रेस के विमोचन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए सासंद डीडी उइके 

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    राजा भोज जयंती एवं बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर बैतूल जिला मुख्यालय से हिन्दी दैनिक समाचार पत्र बैतूल एक्सप्रेस के प्रथम अंक का विमोचन करते हुए सांसद दुर्गादास उइके ने कहा कि बसंत पंचमी सच्चे अर्थों में प्रकृति का प्रजनन कार्यकाल है। दुनिया में बसंत पंचमी नहीं होती है। 

    समाचार पत्र के प्रकाशन का भाव का प्रतिफल हमे मिलता है। आदर्श/व्यक्तिव एक मैगनेटिक का काम करता है। अपने धारा प्रवाह भाषण में कहा कि जन्म देने वाली माँ की महिमा का बखान किया।  लेखक और उसके परिवार के साथ-साथ अपने पुराने संबंधों का जिक्र करते हुए सांसद ने कार्यक्रम में उपस्थित लेखक की माता श्रीमती कसिया बाई पंवार को सम्बोधित करते हुए कहा कि माँ की मौजूदगी किसी भी कार्यक्रम में चार चाँद लगा देती है। माता-पिता की सेवा का सौभाग्य हर किसी को नहीं मिलता है। जननी और जन्मभूमि दोनों माता है।

    श्री उइके ने कहा कि माँ की महिमा अपरंपार है। पत्रकार और लेखक रामकिशोर पवार के संघर्षमय जीवन के बाद भी जनता के ज्वलंत मुद्दों को समाज और प्रशासन के सामने रखा और प्रजातन्त्र के चौथे स्तंभ की भूमिका के रुप में विभिन्न कष्ट सहन कर आगे बढ़े। आगे आने वाले समय में पत्रकारिता और लेखन के क्षेत्र में युवा रामकिशोर पवार से मार्गदर्शन ले सकते हैं।

    जिला मुख्यालय के मीडिया सेन्टर में चक्रवर्ती सम्राट राजाभोज और वसंत पंचमी के पावन अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार रामकिशोर दयाराम पंवार के सुपुत्र और जिले के सबसे युवा पत्रकार, प्रकाशक और संपादक मोहित रामकिशोर पवार के दैनिक बैतूल एक्सप्रेस अखबार का विमोचन सांसद दुर्गादास उइके और रामकिशोर पवार की माँ श्रीमती कसिया बाई पवार की गरिमामयी उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। 

    अतिथियों का किया स्वागत

    सासंद दुर्गादास उइके ने विमोचन कार्यक्रम में मां सरस्वती एवं पुण्य सलिला मां सूर्यपुत्री ताप्ती की पूजा अर्चना और दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में आमंत्रित सभी अतिथियों का पुष्पमाला से स्वागत सत्कार होने के बाद अखबार और पुस्तक का विमोचन करते हुए सासंद दुर्गादास उइके ने बैतूल एक्सप्रेस अखबार और काला गुलाब पुस्तक का विमोचन किया। इस अवसर पर बैतूल जिला क्षत्रिय पंवार समाज संगठन के जिला अध्यक्ष अधिवक्ता बीएल कालभोर, बैतूल बाजार नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष एवं जिला भाजपा महामंत्री अधिवक्ता सुधाकर पंवार, जिले के नामचीन अधिवक्ता प्रशांत गर्ग,  रेडक्रास सोसायटी के प्रदेश प्रतिनिधि अधिवक्ता संजय शुक्ला सहित अन्य मौजूद रहे।

    काला गुलाब का विमोचन

    पत्रकार लेखक रामकिशोर पंवार की कहानियों का संग्रह किताब काला गुलाब का भी विमोचन हुआ। किताब में श्री पंवार की एक दर्जन से अधिक देश-भर के समाचार पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित कहानियों को स्थान दिया गया। श्री पंवार की बीते एक वर्ष में यह चौथी किताब है। 57 वर्षीय जिले के वरिष्ठ पत्रकार रामकिशोर पंवार की पहली किताब बैतूल जिले की पत्रकारिता पर आधारित थी। दुसरी किताब बैतूल जिले के 200 साल पर तथा तीसरी किताब उनकी जन्मभूमि ग्राम रोंढ़ा पर लिखी गई थी। 

    स्वराज वार्ता का भी विमोचन

    जिले के युवा पत्रकार राजकुमार मालवीय के हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र स्वराज वार्ता के प्रथम अंक का भी सासंद दुर्गादास उइके ने विमोवन करते हुए समाचार पत्र के प्रकाशक संपादक को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाए दी।

    ज्योषिाचार्य माते ज्ञानेश्वरी देवी भी पहुंचीं

    विमोचन कार्यक्रम में पड़ोसी जिले सिवनी की नामचीन कथा वाचिका ज्योतिषाचार्य, मां बगलामुखी उपासिका माते ज्ञानेश्वरी देवी समाचार पत्र दैनिक बैतूल एक्सप्रेस के प्रकाशक / संपादक मोहित पंवार को आशीर्वाद देने अपने साधक रविन्द्र मानकर के संग पहुंची। मीडिया सेंटर में उनसे मिलने के लिए बड़ी संख्या में मां बगला मुखी के साधक पहुंचे। नलखेड़ा से जुड़े साधक भीमराव गायकवाड़ ने भी इस अवसर पर मां ज्ञानेश्वरी देवी से आशीर्वाद लिया।  

    विधायक पहुंचे कार्यक्रम में

    अपने विधानसभा क्षेत्र के दौरे कार्यक्रम से लौटते समय जिले के एक मात्र भाजपा विधायक डॉ. योगेश पण्डागरे विमोचन कार्यक्रम में पहुंचे। श्री पण्डागरे ने इस अवसर पर समाचार के प्रकाशक / संपादक को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए विश्वास जताया कि समाचार पत्र जनहित के मामले को सामने लाकर जिले की विकासयात्रा में सहायक भूमिका निभाएगा।  

    मेरे पापा में मेरे हीरो: मोहित

    विमोचन कार्यक्रम में समाचार पत्र के प्रकाशक मोहित पंवार ने कहा कि लोगों के आइडिल या तो क्रिकेटर या एक्टर होते हैं, लेकिन मेरे हीरो, मेरे पापा है। मेरे पापा ने अपनी संघर्ष भरी पत्रकारिता में अपने चालीस साल का लेखन एवं संपादक कार्य किया जिन विषम परिस्थितियों में किया है, आज वही मेरे लिए मार्गदर्शक का काम करेंगे।

    कार्यक्रम का सफल संचालन मन मोहन पंवार, प्रदीप डिगरसे, लक्ष्मी नारायण भंगू पंवार ने किया तथा समाचार पत्र की ओर से समाचार पत्र के प्रधान संपादक ब्रजकिशोर पंवार डब्बू भैया ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में जिले के पत्रकार, प्रबुद्ध नागरिक एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।