एमपी में मंगलवार से खुलेंगे स्कूल, विशेषज्ञों से परामर्श के बाद लिया निर्णय

कक्षा 1 से 12 वीं तक फिलहाल 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ शुरू होंगे विद्यालय

मध्यप्रदेश में 1 फरवरी यानी कल से स्कूल फिर से खुलेंगे। कक्षा 1 से 12वीं तक सभी कक्षाएं 50 प्रतिशत उपस्थित के साथ संचालित होंगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्कूल खोलने के संबंध में चिकित्सा विशेषज्ञों से विचार विमर्श के बाद फैसला लिया। आवासीय विद्यालय और छात्रावास भी 50 प्रतिशत उपस्थिति खोले जा सकेंगे।

मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि बोर्ड परीक्षाएं ऑफलाइन ही होंगी। परीक्षाओं की पूरी तैयारी हो चुकी है। कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखते हुए इसकी डेट आगे बढ़ाई जा सकती है। स्कूल खोलने को लेकर उन्होंने कहा कि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने स्कूल बंद करने का निर्णय कोरोना की स्थिति का अध्ययन करने के बाद लिया था। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के आधार पर स्कूल बंद किए थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर 31 जनवरी तक स्कूल बंद रखने का आदेश हुआ था। कई प्रदेशों में पहले ही स्कूल खोलने का निर्णय लिया जा चुका है। मध्यप्रदेश में बोर्ड परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होने वाली है। 29 जनवरी को सीएम शिवराज ने कोरोना समीक्षा की पिछली बैठक में अन्य राज्यों की स्थिति को देखकर एक्सपर्ट से सलाह लेकर स्कूल खोलने का फैसला लेने के निर्देश दिए थे।

अन्य प्रदेशों में यह है स्थिति
उत्तर प्रदेश, बिहार में 6 फरवरी तक स्कूल बंद हैं। इनके अलावा महाराष्ट्र में 24 जनवरी से और उत्तराखंड में 31 जनवरी से स्कूल खुल चुके हैं। राजस्थान और तमिलनाडु में 1 फरवरी से स्कूल खुलेंगे। ज्यादातर राज्य सरकारों ने पहले चरण में कक्षा 10वीं से 12वीं तक के स्कूल निर्णय लिया है।

न्यूज सोर्स: https://dainik-b.in/m6tA5Gi5fnb

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.