सावधान… एमपी में फरवरी के पहले सप्ताह में आ सकता है पीक

पॉजिटिविटी के आधार पर सरकार का मानना, समीक्षा बैठक में जताई संभावना

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    एमपी (MP) में कोरोना (Covid-19) की तीसरी लहर का पीक (Peak) फरवरी माह के पहले सप्ताह में आ सकता है। यह निष्कर्ष बुधवार को मुख्यमंत्री द्वारा राजधानी में ली गई उच्च अधिकारियों की बैठक में सामने आया है। समीक्षा में पाया गया कि भारत की तुलना में एक निश्चित अनुपात में ही MP में Positivity बढ़ रही है। यह पूरे भारत के औसत के मुकाबले काफी कम है।

    ट्विटर पर दी गई जानकारी के अनुसार बैठक में प्रस्तुत आंकड़ों में बताया गया है कि एमपी में टेस्टिंग क्षमता के आधार पर एक निश्चित अनुपात में ही पॉजिटिविटी बढ़ रही है जो कि भारत की तुलना में काफी कम है। यहाँ 1 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 0.2% थी। यह 3 को 0.4, 4 को 0.5, 5 को 1, 6 को 1.5, 7 को 1.9, 8 को 2.1, 9 को 3 और 10 को 3.4 हुई है। इसके बाद 11 जनवरी को यह 4% हुई है।

    भारत में पॉजिटिविटी की यह है स्थिति
    इसके मुकाबले भारत का पॉजिटिविटी रेट काफी अधिक है। यहाँ 1 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 3.6% थी। यह 2 को 2.5, 3 को 3.8, 4 को 3.2, 5 को 4.2, 6 को 6.4, 7 को 7.7, 8 को 9.3, 9 को 10.2 और 10 को 13.3 हुई है। इसके बाद 11 जनवरी को यह 10.5% हुई है।

    टेस्ट बढ़ने पर भी पॉजिटिविटी एमपी में नियंत्रित
    बैठक में यही निष्कर्ष सामने आया कि भारत में टेस्ट बढ़ने पर भी पॉजिटिविटी अधिक अनुपात में बढ़ रही है जबकि एमपी में टेस्ट बढ़ने पर भी पॉजिटिविटी एक निश्चित अनुपात में ही पढ़ रही है। भारत में 1 जनवरी को 1110855 टेस्ट हुए थे जो कि 11 जनवरी को 1579928 टेस्ट हुए। दूसरी ओर एमपी में 1 जनवरी को 61440 टेस्ट हुए थे वहीं 11 जनवरी को इनकी संख्या बढ़कर 79051 कर दी गई थी। अफसरों का मानना है कि टेस्टिंग बढ़ने पर भी पॉजिटिविटी नियंत्रित और भारत की तुलना में काफी कम है।

    यह भी पढ़ें… बगैर बच्चों के ही मनेगा गणतंत्र दिवस समारोह

    पीक को लेकर यह जताई गई संभावना
    इन आंकड़ों के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया है कि एमपी में सर्वाधिक दैनिक कोविड प्रकरण (Peak) फरवरी माह के प्रथम सप्ताह तक आना सम्भावित है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समुचित तैयारियां करने की हिदायत अफसरों को दी।

    यह भी पढ़ें… बैतूल एसपी सिमाला प्रसाद ने लगवाया प्री-कॉशन डोज, दिया यह संदेश…

    बैतूल जिले में कोरोना की यह स्थिति
    इधर बैतूल जिले में एक बार फिर कोरोना विस्फोट हुआ है। बुधवार रात आई रिपोर्ट में जिले में 44 नए पॉजिटिव मिले हैं। अब जिले में कुल एक्टिव केसों का आंकड़ा दो सैकड़ा के करीब 183 हो गया है। बैतूल में सबसे ज्यादा 14 मरीज मिले हैं। सीएमएचओ डॉ. एके तिवारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन मरीजों में 14 मरीज बैतूल के हैं। इसके अलावा 4 आमला, 3 चिचोली, 8 मुलताई, 3 सेहरा, 7 शाहपुर और 5 घोड़ाडोंगरी के मरीज शामिल हैं। बैतूल में लगातार स्थिति गंभीर होती जा रही है।

    यह भी पढ़ें… कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बंद किए जाएं आंगनवाड़ी केंद्र

    बुधवार 13 मरीजों को किया गया डिस्चार्ज
    बुधवार शाम को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार 13 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। वहीं बुधवार शाम तक एक्टिव केस 139 थे। बुधवार रात में रिपोर्ट आने के बाद जिले में एक्टिव केस बढ़कर 183 हो गए हैं। अब जिले में कुल मरीजों का आंकड़ा 13127 हो गया है।
    यह भी पढ़ें…कर्मचारियों को कोरोना हुआ तो अफसरों की तय होगी जवाबदारी

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.