सावित्री बाई फुले को दिया जएं भारत रत्न

जयंती अवसर पर अजास ने राष्ट्रपति के नाम भेजे पोस्टकार्ड

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    नारी सशक्तिकरण और बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की प्रणेता सावित्रीबाई फुले की आज 191 वीं जन्म जयंती है। अनुसूचित जाति सामाजिक जन कल्याण संगठन अजास ने बैतूल में आज सावित्रीबाई फुले की जयंती मनाई।

    इस अवसर पर अजास संगठन के जिलाध्यक्ष लीलाधर नागले, महासचिव तुकाराम लोखंडे, अजास महिला प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष चंद्रप्रभा चौकीकर ने बताया कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने और महिला सशक्तिकरण की सशक्त महान समाजसेविका, देश की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले के छाया चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर, मोमबत्ती प्रज्ज्वलित की गई। जन्म जयंती के इस अवसर पर सावित्रीबाई फुले के ऐतिहासिक गौरवान्वित, अतुलनीय, अविस्मरणीय कार्यों को सभी ने नमन किया।

    सावित्रीबाई फुले के द्वारा देश में महिला सशक्तिकरण के लिए अनेक कार्य किए गए जिनमें प्रमुख रूप से बालिकाओं के लिए स्कूल खोलना, महिलाओं को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ना, देश में महिलाओं के लिए प्रथम विद्यालय खोलना, सामाजिक कुरीतियों का अंत कर महिलाओं को समानता के अधिकार दिलाना, प्लेग जैसी गंभीर बीमारी में मानव सेवा का कार्य जैसे महत्वपूर्ण कार्य किए।

    संगठन के जिला सचिव और मीडिया प्रभारी पंकज डोंगरे ने कहा कि सावित्रीबाई फुले के ऐसे अनेक अतुलनीय योगदानओं को हम सभी भारतवासी नमन करते हैं। अजास संगठन ने देश के महामहिम राष्ट्रपति महोदय जी के नाम पोस्टकार्ड प्रेषित कर सावित्रीबाई फुले को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न सम्मान दिए जाने के लिए पोस्टकार्ड लिखें।

    जयंती के इस अवसर पर अजास संगठन के जिला अध्यक्ष लीलाधर नागले, महासचिव तुकाराम लोखंडे, महिला प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष चन्द्रप्रभा चौकीकर, जिला उपाध्यक्ष निर्मला गोहिया, जिला महासचिव चंद्रभागा भूमरकर, अजास जिला कार्यकारिणी सदस्य वर्षा खातरकर, दीपमाला खातरकर, रामदास गुजरे सहित सामाजिक लोग मौजूद रहे।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.