पंचायत चुनाव: रिजल्ट रोके, चुनाव होंगे पर नतीजे अभी नहीं होंगे घोषित

ओबीसी सहित सभी सीटों के साथ घोषित होंगे नतीजे, निर्विरोध जीत पर भी अभी प्रमाणपत्र नहीं

भोपाल। राज्य निर्वाचन आयोग ने बुधवार को कहा है कि मध्य प्रदेश में चल रहे पंचायत चुनाव के परिणाम घोषित नहीं होंगे। प्रदेश के सभी कलेक्टरों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। अब सवाल है कि पंचायत चुनाव की प्रक्रिया के बीच इस तरह का आदेश क्यों आया? आयोग ने यह निर्देश सुप्रीम कोर्ट के आदेश के पालन में दिए हैं। इससे पहले आयोग अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए आरक्षित पदों की चुनाव प्रक्रिया पर रोक लगा चुका है। कहा गया है कि पंचायत चुनाव की प्रक्रिया चलती रहेगी, लेकिन निर्विरोध चुने जाने के बाद भी न तो प्रमाणपत्र मिलेगा और न ही विजेता की घोषणा की जाएगी।

यह भी पढ़ें… बैतूल में जिला पंचायत सदस्य के लिए मुकाबले की यह रही शुरुआती तस्वीर, इतने नामांकन दाखिल

स्थानीय निकाय चुनाव में ओबीसी आरक्षण मामले में दिए फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ओबीसी के लिए रिजर्व सीट को सामान्य घोषित किया जाए। कोर्ट ने यह भी आदेश दिया है किपंचायत चुनाव के परिणाम एक साथ घोषित किए जाएं। कई पंचायतों में निर्विरोध चुनाव होने लगे थे। यही नहीं, पंच-सरपंच भी चुने जाने लगे, चूंकि कोर्ट का आदेश है कि सभी परिणाम एक साथ घोषित किए जाएं, इसलिए आयोग को इस तरह का आदेश निकालने की जरूरत पड़ी।

यह भी पढ़ें… बैतूल में जिला पंचायत सदस्य के लिए मुकाबले की यह रही शुरुआती तस्वीर, इतने नामांकन दाखिल

आदेश के व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश इस आदेश के तहत किसी भी पद पर निर्विरोध चुने जाने पर रिटर्निंग ऑफिसर अभ्यर्थी को न ही निर्वाचित घोषित करेगा और न ही निर्वाचन का प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा। इस आदेश का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें… जिला पंचायत सदस्य के लिए इन उम्मीदवारों के नामांकन पत्र पाए गए जांच के बाद विधिमान्य

निर्वाचन प्रक्रिया चलती रहेगी
पंचायत के पहले चरण के लिए मतदान छह जनवरी और दूसरे चरण के लिए 28 जनवरी को होगा। मतगणना भी तय तारीख को होगी, लेकिन परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा। आयोग ने स्पष्ट किया है कि निर्विरोध निर्वाचन की स्थिति में भी निर्वाचित अभ्यर्थी के निर्वाचन की न तो घोषणा की जाएगी और न ही प्रमाण पत्र दिया जाएगा। आयोग ने कहा है कि पंचायत के सभी पदों के लिए मतगणना का सारणीकरण (टेब्युलेशन) और निर्वाचन परिणाम की घोषणा से जुड़ी कार्यवाही स्थगित रहेगी। इस संबंध में आयोग अलग से निर्देश जारी करेगा। पहले चरण में पंच और सरपंच के लिए 6 जनवरी को मतदान के बाद मतगणना होगी।

यह भी पढ़ें… पंचायत निर्वाचन: बैतूल जिले की 1192 सीटों पर अभी नहीं होंगे चुनाव

इनके लिए EVM से होगी मतों की गणना
जनपद और जिला पंचायत सदस्य के लिए विकासखंड मुख्यालय पर 10 जनवरी को EVM (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) से मतों की गणना की जाएगी। इसी तरह दूसरे चरण में पंच और सरपंच पद के लिए 28 जनवरी और जनपद व जिला पंचायत सदस्य के लिए एक फरवरी को विकासखंड मुख्यालय पर EVM से मतगणना होगी।

यह भी पढ़ें… पंचायत चुनाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला, पढिएं क्या आदेश दिया न्यायालय ने

मतगणना का रिकॉर्ड सील बंद रखा जाएगा
मतगणना से संबंधित सभी दस्तावेज अभ्यर्थी या उनके अभिकर्ताओं की उपस्थिति में सील बंद करके सुरक्षित अभिरक्षा में रखे जाएंगे।

न्यूज सोर्स:https://dainik-b.in/2dtUEusecmb

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.