धांधलियों का मिला अंबार: प्रभारी और समूहों को हटाया, शिक्षकों का काटा वेतन

जिला पंचायत सीईओ और जिला परियोजना समन्वयक ने किया शालाओं का औचक निरीक्षण

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    जिला पंचायत बैतूल के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अभिलाष मिश्र द्वारा औचक निरीक्षण के दौरान प्रधानमंत्री पोषण आहार योजना अंतर्गत गुणवत्ता पूर्ण भोजन नहीं बनाए जाने को लेकर कड़ी कार्यवाही करते हुए प्राथमिक शाला बूचाखेडी विकास खंड भीमपुर में कार्यरत नीलम स्व सहायता समूह को कार्य से पृथक करने के आदेश जारी किए गए हैं।

    स्कूलों में अचानक पहुंचे अफसर तो नजारा देख पड़े हैरत में, शिक्षकों के साथ जनशिक्षकों पर भी गिरी गाज

    निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि खाद्यान्न को पर्याप्त मात्रा में नहीं बनाया गया था, साथ ही रसोइयों द्वारा बच्चों में पूर्ण वितरण न करते हुए कुछ खाद्य सामग्री को घर ले जाया जा रहा था। श्री मिश्र ने स्वयं भोजन को चखकर देखा और रसोइयों सहित स्व सहायता समूह को कार्य से पृथक करने, मध्यान्ह प्रभारी शिक्षक को हटाए जाने, शाला के दोनों शिक्षकों के पांच 5 दिन के वेतन काटे जाने के निर्देश दिए गए। नीलम स्व सहायता समूह की अध्यक्ष अनिता इवने, सचिव सुमन, रसोईया सुमन रवि राज एवं शाले छन्नू के साथ शिक्षक मोंटू सिंह उइके एवं सुखदेव देशमुख के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।

    कमिश्रर का दौरा: स्कूल में नहीं मिले शिक्षक, छात्रावास से नदारद थे अधीक्षक

    शालाओं के आकस्मिक निरीक्षण का दौर विभागीय स्तर पर सतत रूप से जारी है, इसके अंतर्गत डीपीसी सुबोध शर्मा द्वारा मोढी ढाना की प्राथमिक शाला के किए गए औचक निरीक्षण में शिक्षिका के उपस्थित न मिलने पर एक दिन का वेतन काटे जाने के निर्देश जारी किए हैं। प्राथमिक शाला संचालित मिली किंतु शिक्षिका योगिता रघुवंशी शाला में उपस्थित नहीं मिली। उल्लेखनीय है कि विभागीय तौर पर समस्त अमले द्वारा सघन रूप से विद्यालयों के निरीक्षण किए जाने के निर्देश के तहत विभिन्न मैदानी अधिकारियों द्वारा भी शालाओं का निरीक्षण किया जा रहा है।