चुरा रहे थे बकरी, रंगे हाथ धरे गए, अब साल भर रहेंगे जेल में

आरोपियों को न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी भैंसदेही ने सुनाई कठोर कारावास की सजा

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881

    दामजीपुरा के दो आरोपी एक गांव से बकरी चुराने का प्रयास कर रहे थे। वे बकरी तो नहीं चुरा पाए पर एक आरोपी रंगे हाथ धरा गया। मामले में रिपोर्ट हुई और जांच पड़ताल के बाद प्रकरण न्यायालय पहुंचा जहां दोनों आरोपियों को सजा सुनाई गई है। न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी भैंसदेही ने आरोपी रफीक पिता खुदाबक्श और हबीब पिता यूसुफ दोनों निवासी दामजीपुरा थाना मोहदा को धारा 380 में दोषी पाते हुए 1-1 वर्ष के कठोर कारावास एवं 5-5 सौ रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है। प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी प्रसून कुमार द्विवेदी द्वारा की गई।

    यह भी पढ़ें… महिला कर्मचारियों का लैंगिक उत्पीड़न करने वाले जिला पंचायत के तकनीकी विशेषज्ञ को 3 माह का कठोर कारावास

    सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्री द्विवेदी ने प्रकरण की जानकारी देते हुए बताया कि फरियादी फगनू ने 19 अगस्त 2014 को थाना मोहदा में इस आशय की रिपोर्ट लेख कराई कि सुबह करीब 5 बजे मैं सो रहा था तभी मुझे मेरी बकरी की चिल्लाने की आवाज आई। मैंने उठकर देखा तो एक व्यक्ति मेरी बकरी को मोटर साइकिल पर बीच में पकड़ कर रख रहा था। मैं दौड़कर मोटर साइकिल के पास पहुंचा व उसकी चाबी निकाल ली, तब दूसरा व्यक्ति मुझसे चाबी छीनने लगा तो मैं चिल्लाया।

    यह भी पढ़ें… सारणी पावर प्लांट में लूट के आरोपियों को 4-4 साल का कठोर कारावास

    इस पर गांव में रामायण करने वाले परसराम, भजनलाल, श्यामलाल, जुगराम आ गए तो एक व्यक्ति भाग गया। दूसरे व्यक्ति को बकरी के साथ पकड़ लिया गया। हम लोगों ने उसका नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम रफीक और भाग जाने वाले का नाम हबीब निवासी दामजीपुरा बताया था।

    यह भी पढ़ें… किशोरी को वेश्यावृति के प्रयोजन से बेचने-खरीदने और दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को 10-10 वर्ष का कठोर कारावास

    फरियादी की रिपोर्ट पर से आरोपियों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना की गई। विवेचना के उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। अभियोजन ने अपना मामला संदेह से परे प्रमाणित किया। इस पर न्यायालय द्वारा आरोपी रफीक एवं हबीब को धारा 380 में 1-1 वर्ष के कठोर कारावास एवं 500-500 रुपये के जुर्माने से दंडित किया गया।

    यह भी पढ़ें… बड़ी खबर: तीन साल की मासूम का अपहरण कर हत्या करने वाले हैवान को आजीवन कारावास