स्कूलों में अचानक पहुंचे अफसर तो नजारा देख पड़े हैरत में, शिक्षकों के साथ जनशिक्षकों पर भी गिरी गाज

वेतन काटे जाने के साथ सर्विस ब्रेक करने की भी होगी सख्त कार्यवाही

डीपीसी और जिला पंचायत की टीम ने किया शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881

    भीमपुर एवं आठनेर विकासखंड की शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण शुक्रवार को जिला परियोजना समन्वयक, जिला पंचायत की टीम एवं विकासखंड स्त्रोत समन्वयक के द्वारा किया गया। इस दौरान टीम को कई अनियमितताएं देखने को मिली। शिक्षक जहां लापता थे तो समय के पूर्व ही बच्चों की छुट्टी कर दी गई थी। इसके चलते संबंधितों का वेतन रोके जाने और कारण बताओ नोटिस जारी किए जाने की कार्यवाही उनके विरूद्ध की गई है।

    एक ही परिसर स्थित प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला अक्कलवाड़ी में प्राथमिक शाला के बच्चों को शाला समय से पूर्व ही छुट्टी कर दिए जाने, शाला के 2 शिक्षकों के निरीक्षण के समय अनुपस्थित पाए जाने, इसी प्रकार प्राथमिक शाला बूचा खेड़ा विकासखंड भीमपुर में दोनों शिक्षकों के शाला में उपस्थित नहीं मिलने के संदर्भ में कारण बताओ सूचना पत्र जारी किए जाने के निर्देश जिला परियोजना समन्वयक सुबोध शर्मा द्वारा दिए गए।

    संबंधित प्रशासकीय विभाग से इन शिक्षकों एवं जनशिक्षकों का माह दिसंबर का वेतन बिना जिला शिक्षा केंद्र की सहमति के आहरित न किए जाने के निर्देश जारी किए गए हैं। इन शिक्षकों में प्राथमिक शाला अक्कलवाड़ी के प्रहलाद झाड़े, देवीदयाल झाड़े, शकील खान, जन शिक्षक जगदीश झाड़े एवं धर्मराज अमरूते शामिल हैं। इसी प्रकार प्राथमिक शाला बूचाखेड़ा के शिक्षक मोदू सिंग उइके एवं सुखदेव देशमुख तथा जन शिक्षक गणेश इवने को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किए जा रहे हैं। प्रशासकीय विभाग के माध्यम से वेतन काटे जाने एवं सेवा अवरुद्ध की कार्यवाही की जाएगी।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.