गुड्स सुपरवाइजर श्याम धुर्वे का निलंबन वापस, किया बहाल

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    बैतूल रेलवे स्टेशन पर पदस्थ गुड्स सुपरवाइजर (माल पर्यवेक्षक) श्याम धुर्वे को तीसरे दिन ही बहाल कर दिया गया है। उन्हें जिन कारणों का हवाला देकर निलंबित किया गया था, जांच-पड़ताल में वे सही नहीं पाए गए। लिहाजा उनका निलंबन वापस ले लिया गया है। कुछ भ्रम की स्थिति निर्मित होने के कारण उन पर यह कार्यवाही हो गई थी। दरअसल, 29 नवंबर को रेलवे को 2 पार्टियों को रैक उपलब्ध कराना था। उस दिन एक रैक भरा रही थी। दूसरी ओर जब एक रैक भरा रही होती है तब उसी समय दूसरी पार्टी को रेलवे उपलब्ध नहीं करवा सकता है। वहीं पहले से भरा रही रैक की लोडिंग का काम 29 नवंबर की जगह 30 नवंबर को पूरा हुआ। इससे 29 नवंबर की ही दूसरी पार्टी को उसी दिन रैक उपलब्ध नहीं हो सका। इससे ऑनलाइन सिस्टम में उसकी बुकिंग अपने आप ही कैंसिल हो गई और उस पार्टी द्वारा जमा कराई गई प्रीमियम राशि भी उसके खाते में पहुंच गई थी। यह सारी प्रक्रिया हेड ऑफिस से ही होती है, लेकिन इसी बीच कुछ भ्रम की स्थिति निर्मित होने से अधिकारियों ने यह कार्यवाही कर दी थी। जांच पड़ताल में यह स्थिति स्पष्ट हो गई। इस पर श्री धुर्वे को 3 दिसंबर को बहाल कर दिया गया है।