बैतूल में दिखाई जागरूकता और की पहल तो रुक गई पानी की बर्बादी

तीन घण्टे में सैकड़ों लोगों के श्रमदान से बना माचना में 1500 बोरियों का बंधान

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    बैतून की जीवनदायिनी माचना नदी का पानी फिजूल बहने से रोकने के लिए जागरूकता दिखाकर पहल करते हुए बुधवार को सैकड़ों लोगों ने फिल्टर प्लांट स्थित माचना घाट पर लगातार तीन घण्टे श्रमदान कर 1500 बोरियों से बंधान बनाया। इस कार्य में जनप्रतिनिधियों सहित नगर की विभिन्न सामाजिक, धार्मिक, शैक्षणिक, पर्यावरणीय संस्थाओं के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बारी-बारी से श्रमदान किया। बोरी बंधान हो जाने से एनीकट से फिजूल बह रहा पानी अब यहीं रुक जाएगा और फिर इसे मोटर की मदद से वापस एनीकट में पहुंचा दिया जाएगा।

    जल प्रहरी मोहन नागर के निर्देशन में श्रमदानियों ने नदी की धार में पहले दो पंक्ति में बोरियों को रखा तथा बोरियों के बीच काली मिट्टी भरकर बांध बनाया। श्रमदान में पूर्व सांसद हेमन्त खंडेलवाल, जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश फाटे, नागरिक बैंक के अध्यक्ष अतीत पवार, गायत्री परिवार के जिला प्रमुख डॉ. कैलाश वर्मा, अमोल पानकर, ग्रीन टाइगर्स के तरुण वैद्य, हिन्दू जागरण मंच के राजू तुमरामए, तरुण भारती के राजेश सिंह भदौरिया, भारत भारती आईटीआई के प्राचार्य विकास विश्वास, मंडल अध्यक्ष विकास मिश्रा, मंडल अध्यक्ष विक्रम वैद्य, महामंत्री विक्रम शर्मा, पार्षद कैलाश धोटे, दिलीप सतीजा, सावन्या शेषकर, महेश राठौर एवं समाजसेवी कांतु प्रजापति, दशरथ सिंह ठाकुर, जगदीश साहू, हेमंत साहू, प्रमोद राठौर, कुलदीप माहोरे, दीपक साहू, राजू पवार, बबलू मालवीय, गुड्डू मिश्रा, राजा पाण्डे सहित सैकड़ों लोगों ने शामिल होकर बोरी बंधान किया।

    इस अभियान में मुख्य रूप से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पर्यावरण गतिविधि, गायत्री परिवार ग्रीन टाइगर्स, सत्य साई सेवा समिति, भारत भारती शिक्षा संस्थान, मध्यप्रदेश शिक्षक संघ, पूर्व सैनिक परिषद, साहू समाज समिति स्माइल ग्रुप, ओम साई विजन समिति आदि संस्थाओं के कार्यकर्ताओं ने सहभाग किया। बोरी बन्धान के पश्चात श्रमदानियों को सम्बोधित करते हुए जल प्रहरी मोहन नागर ने कहा कि माचना बैतूल को जीवन देती है। आज माचना को जीवन देने की आवश्यकता है। माचना पुनर्जीवन अभियान के तहत अनेक जल संरचनाएं ग्राम-ग्राम में प्रशासन व जनभागीदारी के माध्यम से बनाई जा रही है। इस वर्ष अनेक स्टॉप डैम, तालाब व पहाड़ों में खंतियां खोदने का कार्य किया जाएगा। पूर्व सांसद श्री खंडेलवाल ने जल संरक्षण हेतु जनभागीदारी से चलाए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि माचना को सदानीरा बनाने में प्रत्येक नागरिक को सहयोग करना होगा। आभार प्रदर्शन माचना जन्मोत्सव समिति के संयोजक व पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष आनंद प्रजापति ने किया।