माचना नदी पर बुधवार को होगा डेढ़ हजार बोरियों का बंधान

माचना पुनर्जीवन अभियान के तहत बनेगा सबसे बड़ा बोरी बंधान

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    माचना पुनर्जीवन अभियान के अंतर्गत 1 दिसंबर बुधवार को माचना घाट फिल्टर प्लांट पर श्रमदान से जिले का सबसे बड़ा बोरी बंधान बनाया जाएगा। माचना जन्मोत्सव समिति के संयोजक पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष आनंद प्रजापति ने बताया कि बैतूल की जीवनदायिनी नदी माचना में इस समय एनीकेट के ऊपर से व्यर्थ पानी बह रहा है। उसे 1500 बोरियों के बंधान के माध्यम से रोककर जल संरक्षण का कार्य जन सहयोग से किया जाएगा। प्रात: 8 से 10 बजे तक होने वाले इस श्रमदान में जिले में प्रतिवर्ष सैकड़ों बोरी बंधान बनाने वाले जल प्रहरी मोहन नागर के निर्देशन में नगर की विभिन्न संस्थाओं के सौ से अधिक श्रमदानी भाग लेंगे। श्री प्रजापति ने बताया कि माचना एनीकेट के आगे एक स्टॉप डैम प्रस्तावित है, लेकिन अभी पानी व्यर्थ बह रहा है। इसलिए बोरी बंधान का निर्णय लिया गया है। 1500 बोरियों से लगभग चार फुट ऊंचा बंधान बन जाने से लाखों लीटर पानी संग्रहित होगा जो बाद में लिफ्ट करके एनीकेट में डाला जा सकता है। श्री प्रजापति ने बताया कि वरिष्ठ भाजपा नेता हेमंत खंडेलवाल सहित सभी पर्यावरण प्रेमियों से अभियान में सहयोग करने की अपील की है।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.