रोजगार सहायक ने खूब की मनमानी, कलेक्टर ने किया बर्खास्त

जनपद सीईओ द्वारा की गई जांच में डेढ़ लाख से अधिक की अनियमितता का पाया गया दोषी

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    जनपद पंचायत बैतूल के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत बरसाली के ग्राम रोजगार सहायक दिलीप यादव ने जमकर मनमानियां की हैं। इस संबंध में हुई शिकायतों की जांच में रोजगार सहायक को डेढ़ लाख रुपये से अधिक की अनियमितता का दोषी पाया गया है। जनपद सीईओ का जांच प्रतिवेदन मिलने पर कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस ने रोजगार सहायक दिलीप यादव की संविदा सेवा तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी है।

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक बरसाली के ग्राम रोजगार सहायक दिलीप यादव द्वारा योजनान्तर्गत संचालित निर्माण कार्य एवं सीएम हेल्पलाईन के प्रति रूचि नहीं लिए जाने की शिकायतें हुई थीं। इनकी जांच मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत, बैतूल से करवाई गई। उनके द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन के अनुसार ग्राम रोजगार सहायक द्वारा यह वित्तीय अनियमितताएं किया जाना पाया गया-
    ★ एजेन्सी ग्राम पंचायत बरसाली द्वारा तरूण यादव पिता रोहित यादव को वर्ष 2018-19 में राशि रुपये 9744, वर्ष 2019-20 में राशि रुपये 12320, उप सरपंच रामगोपाल यादव व इनकी पत्नी सुमन यादव को वर्ष 2019-20 में राशि रुपये 10032, वर्ष 2020-21 में राशि रुपये 950 तथा संतोष नरवरे, मालती नरवरे को वर्ष 2020-21 में राशि रुपये 3420 इस प्रकार कुल राशि रुपये 36466 का फर्जी हाजिरी भुगतान किया जाना पाया गया है।
    ★ सीएम हेल्पलाईन में दर्ज शिकायत क्रमांक 12062199 की जांच में वृक्षारोपण कार्य 625 चान्दबर्रा बरसाली परियोजना में 27 अगस्त 2021 को कराए गए भौतिक सत्यापन में 25 प्रतिशत से कम पौधे जीवित पाए गए जो राशि रुपये 79,850 की अनियमितता की गई।
    ★ सीएम हेल्पलाईन में दर्ज शिकायत क्रमांक 13294239 की जांच में हितग्राही किसनी रूद्धन के खसरा क्रमांक 45/1 की भूमि रकबा 0.8140 (हेक्टेयर) में पूर्व से सिंचाई का साधन उपलब्ध था, किन्तु एजेंसी ग्राम पंचायत द्वारा विकास आयुक्त, कार्यालय मध्यप्रदेश शासन के पत्र में दिए गए निर्देशों का पालन न करते हुए अपनी मनमर्जी से हितग्राही को स्वीकृति प्रदान की जाकर शासन के निर्देशों की अवहलेना किया जाना पाया गया।

    अतः निर्माण कार्य पर व्यय की गई सम्पूर्ण राशि 153187 रुपये (एक लाख तिरेपन हजार एक सौ सत्यास्सी रुपये) की अनियमितता किया जाना पाया गया। जांच प्रतिवेदन के आधार पर ग्राम रोजगार सहायक दिलीप यादव को निर्माण कार्यों पर श्रमिक नियोजन नहीं करने, समयावधि में श्रमिकों के मस्टर रोल भुगतान में अनियमितता करने तथा अपने कर्तव्यों के निर्वहन में लापरवाही बतरने के कारण कलेक्टर श्री बैंस ने ग्राम रोजगार सहायक दिलीप यादव की संविदा सेवा तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी है।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.