एफआईआर मामले ने पकड़ा तूल: भाजपा बोली- आवेदक पर दबाव बना रही कांग्रेस

विधायक निलय डागा ने कहा था- भाजपा की कठपुतली बनी पुलिस

भाजपा के मंडल अध्यक्ष और कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष पर दर्ज हुआ था मामला

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    हाल ही में भाजपा के मंडल अध्यक्ष और कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष पर दर्ज हुए मामलों को लेकर अब दोनों ही दलों में सियासी जंग छिड़ गई है। दोनों दल एक-दूसरे पर पलटवार कर आरोप-प्रत्यारोप करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष और उनके साथियों पर दर्ज मामलों के विरोध में कल कांग्रेस ने बड़ा प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा था और विधायक निलय डागा ने स्पष्ट आरोप लगाया था कि पुलिस कठपुतली बन कर भाजपा का काम कर रही है। वहीं आज भारतीय जनता पार्टी के पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिला अध्यक्ष संजू सोलंकी के नेतृत्व में भाजपाइयों ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर ज्ञापन सौंपा। उन्होंने सरकार को बदनाम करने के आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि कांग्रेस विधायक एवं उनके समर्थकों द्वारा बिना अनुमति के कॉलेज परिसर में घुसकर उत्पात मचा कर कानून तोड़ने का कृत्य किया गया। उनके इस कृत्य से शासकीय कार्य व प्रवेश प्रक्रिया बाधित हुई व छात्र-छात्राएं दिन भर कॉलेज का गेट बंद होने के कारण प्रताड़ित होते रहे। कॉलेज में आंदोलन के दौरान तालाबंदी, प्राचार्य से अभद्रता एवं आदि कृत्यों की शिकायत पर पुलिस ने विवेचना कर समर्थको पर मामला दर्ज किया है। पुलिस द्वारा मामला दर्ज किए जाने पर इसे कांग्रेसी नेताओं द्वारा जबरन राजनैतिक रंग देने के लिए भाजपा नेताओं के नाम लेकर बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेसी उपरोक्त बयानबाजी व ज्ञापन के माध्यम से पुलिस प्रशासन, शासन एवं भाजपा सरकार को बदनाम कर अनावश्यक दबाव बनाने का प्रयास कर रहे हैं। कॉलेज में घटित अपराध से अपने को बचाने के लिए और कार्यवाही से बचने के लिए पुलिस एवं प्रशासन पर दबाव का हथकंडा अपना रहे हैं। कांग्रेसियों द्वारा शिकायतकर्ताओं पर भी दबाव बना कर अपनी शिकायत वापस लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा है और उनके परिवारों को डराया-धमकाया जा रहा है जिससे कि जांच प्रभावित हो सके। इस संबंध में भी जांच किया जाना आवश्यक है। उपरोक्त प्रकरण में शिकायतकर्ताओं एवं छात्रों पर दबाव बनाकर जांच प्रभावित करने, पुलिस प्रशासन, भाजपा सरकार को बदनाम करने के संबंध में 384, 506, 195-ए एवं 120-बी धारा के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कराया जाएं। साथ ही जो बयान दे रहे हैं कि उन्हें भी आरोपी बनाया जाएं, तो उनके आरोप स्वीकृत मानकार उनकी भी इच्छापूर्ति की जाएं। प्रकरण को न्याय संगत बिना किसी दबाव के जांच कर अन्य सभी लोगों पर भी आपराधिक प्रकरण दर्ज किए जाएं। ज्ञापन देने के दौरान मंडल अध्यक्ष विक्रम वैद्य, नीतू पटेल, नितिन बारस्कर, पवन यादव, सावन्या शेषकर, विक्रम शर्मा, अंशुल राजपूत, संदीप यादव, लोकेश साहू, कैलाश धोटे, राजेश आर्य, बंटी मालवी आदि भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.