बस में बैठे-बैठे ही चली गई जान, लोग सोचते रहे सो रहा

बैतूल में बस रुकने और काफी देर बाद भी नहीं उतरने पर चला पता

बैतूल जिला अस्पताल में उतारा गया यात्री का शव।
  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    एक निजी बस में भोपाल से बैतूल की यात्रा कर रहे व्यक्ति की बस में बैठे-बैठे ही जान चली गई। अपनी सीट पर वह पड़ा रहा और आसपास के यात्री समझते रहे कि वह सो रहा है। इस घटना का पता तब चला जब सभी यात्री बस से उतर गए और वह यात्री नहीं उतरा। घटना बीती रात की है। जानकारी के अनुसार भोपाल से बैतूल आ रही एक निजी बस में एक यात्री भोपाल से बैतूल के लिए सवार हुआ था। किन्हीं कारणों से उसकी रास्ते में ही मौत हो गई। उसके साथ में और कोई नहीं होने से किसी को इस बारे में पता ही नहीं चला। रात में बैतूल बस पहुंची तो सभी यात्री उतर गए पर यह यात्री नहीं उतरा। इस पर बस के स्टाफ ने आवाज दी पर फिर भी कोई हलचल नहीं हुई। इस पर बस चालक बस को सीधे जिला अस्पताल ले गया। यहां जांच की तो पाया कि यात्री की मौत हो चुकी थी। अस्पताल पुलिस ने यात्री के कागजात देखे तो उसमें विजय घोरपड़े नाम के कुछ दस्तावेज मिले हैं, जिनमें वरुड़ के आसपास के किसी गांव के निवासी होने की जानकारी मिली है। हालांकि इसकी पुष्टि परिजनों के पहुंचने पर ही हो सकेगी। पुलिस ने परिजनों को सूचित कर दिया है। आज पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा जाएगा।

  • Get real time updates directly on you device, subscribe now.

    Leave A Reply

    Your email address will not be published.