स्वेटर पाकर गरीब बच्चों के चेहरों पर नजर आई खुशियों की गर्मी

हर साल की तरह इस वर्ष भी जन आस्था संस्था ने वितरित किए गर्म कपड़े

  • उत्तम मालवीय, बैतूल © 9425003881
    समाजसेवा के जरिये गरीबों के दिलों मे अपनी अलग जगह बनाने वाली जन आस्था संस्था ने ठण्ड आते ही गरीब बच्चों को ठण्ड से बचाने के लिए स्वेटर वितरण करने का काम शुरू कर दिया है। शुक्रवार को जन आस्था संस्था ने ठण्ड से गरीब बच्चों को बचाने के लिए गर्म जैकेट का वितरण किया।

    उल्लेखनीय है कि लावारिस शवों के अंतिम संस्कार में सहयोग करने वाली जन आस्था संस्था हर वर्ष ठण्ड के दौरान गरीब बच्चों को गर्म कपड़े मुहैया कराती है। जन आस्था संस्था समाजसेवा के जरिये तमाम ऐसे नेक काम करते आ रही हैं जिनके चलते संस्था ने गरीबों के दिल में अपनी अलग जगह बना ली है। जन आस्था डेढ़ दशक से प्रतिवर्ष गरीबों की सहायता के लिए कार्य कर रही है। मेधावी गरीब बच्चों की फीस भरने, प्यासे कंठों को तर करने एवं बढ़-चढ़कर गरीबों की सहायता करती है। दीन-दुखियों की सहायता करने के लिए जन आस्था के सभी कर्मठ सदस्य हमेशा तत्पर रहते हैं। इसी तरह के अनेक कार्य करके जन आस्था लोगों के दिलों मे बसतीजा रही हैं। जन आस्था संस्था के प्रमुख संजय शुक्ला ने बताया कि गरीबों की मदद करके उन्हें बहुत सकून मिलता है। साथ ही उन्होनें समाज के सक्षम लोगों से आह्वान किया कि गरीबों की मदद करने के लिए आगे आकर अपने कदम बढ़ाएं जिससे गरीबों को कुछ राहत मिल सके और उनके चेहरे पर भी मुस्कुराहट दिखाई दे। श्री शुक्ला ने बताया कि गर्मी का मौसम का गरीब बच्चे जैसे-तैसे सामना कर लेते हैं, लेकिन ठण्ड के मौसम से लड़ना आसान नहीं होता है। बड़े तो जैसे-तैसे अपना काम चला लेते हैं, लेकिन छोटे बच्चों को बेहद दिक्कतें होती है। ऐसी स्थिति में जनआस्था द्वारा बच्चों को स्वेटर देकर नेक कार्य करने का प्रयास किया है।