लोकायुक्त टीम ने रिश्वत लेते 3 को रंगे हाथ दबोचा

पंचायत इंस्पेक्टर, समन्वय अधिकारी और सचिव धराए, 35 हजार रुपये बरामद


बैतूल। लोकायुक्त की टीम ने शुक्रवार को जनपद पंचायत कार्यालय घोड़ाडोंगरी में सरपंच की शिकायत पर छापामार कार्रवाई कर 35 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पंचायत इस्पेक्टर, पंचायत समन्वयक अधिकारी एवं जनपद में अटैच सचिव को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। विगत 9 नवंबर को सरपंच आमडोह द्वारा की गई शिकायत के बाद शुक्रवार दोपहर 3.30 बजे लोकायुक्त की टीम ने यह कार्रवाई की।
लोकायुक्त टीम ने आमडोह के सरपंच को 35000 रुपये नकद देकर जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचाया। यहां पंचायत इस्पेक्टर प्रदीप ओगले, पंचायत समन्वयक अधिकारी पीसी त्रिपाठी और जनपद में अटैच सचिव बृजेश राय को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। यह कार्यवाही लोकायुक्त टीआई मनोज पटवा, डीएसपी संजय शुक्ला, इंस्पेक्टर उमा कुशवाहा की टीम ने की। टीआई मनोज पटवा ने बताया कि 9 नवंबर को आमडोह पंचायत के सरपंच शंकर विश्वास ने पंचायत में हुए विकास कार्यों को लेकर हुई शिकायत की जांच को दबाने के एवज में 50000 रुपये की रिश्वत मांगने की शिकायत लोकायुक्त में दर्ज कराई थी। इसका सत्यापन करने के बाद शुक्रवार को शिकायतकर्ता को 35000 रुपये देकर जनपद कार्यालय पहुंचाया गया। यहां पर पंचायत इंस्पेक्टर को मांगी गई रकम का पैसा देने के लिए कहा गया। उन्होंने बताया कि पंचायत इंस्पेक्टर ने रिश्वत के पैसे अटैच सचिव बृजेश राय को देने के लिए कहा। इस पर मौके पर 3 लोगों को रंगे हाथों पकड़ा गया। मौके से 35000 रुपये एवं मोबाइल जब्त किए गए हैं।

इस मामले में 3 लोगों को आरोपी बनाया गया है। इनमें से 2 लोगों की रिकॉर्डिंग थी, जबकि सचिव के द्वारा रुपये लिए गए हैं।
मनु श्रीवास्तव, एसपी, लोकायुक्त, भोपाल

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.