दामों में कमी: लोगों की बल्ले-बल्ले, डीलर्स का निकला दीवाली पर दिवाला

एक्साइज ड्यूटी में कमी से सस्ता बेचना पड़ रहा महंगा खरीदा पेट्रोल-डीजल

दामों में कमी और बढ़ोतरी की अचानक व्यवस्था बदलने से बने यह हालात

  • उत्तम मालवीय (9425003881)
    बैतूल।
    केंद्र सरकार द्वारा दीपावली का उपहार देते हुए पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में क्रमशः 5 और 10 रुपये की कटौती किए जाने से आम लोगों की भले ही बल्ले-बल्ले हो गई हो, लेकिन पेट्रोल पंप संचालकों का दीवाली पर दिवाला निकल गया है। उन्हें पूर्व में अधिक दामों पर खरीदा गया पेट्रोल डीजल सस्ते दामों पर बेचना पड़ रहा है। इस बार अचानक बदली गई व्यवस्था से यह स्थिति बनी है।
    अभी तक आज व्यवस्था थी कि शुल्क में या पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कमी या बढ़ोतरी होने पर उतनी कमी या बढ़ोतरी अचानक या एक साथ नहीं की जाती थी। इसे धीरे-धीरे थोड़ा-थोड़ा करके घटाया या बढ़ाया जाता था। इससे पम्प संचालकों को न ज्यादा नुकसान उठाना पड़ता था और ना ही वे अधिक फायदा ले पाते थे। जैसे शुल्क बढ़ते थे या अंतरराष्ट्रीय बाजार में दाम बढ़ते थे तो भी आम लोगों के लिए दाम एक साथ नहीं बढ़ाये जाते थे। इसलिए उम्मीद जताई जा रही थी कि शुल्क कम होने पर दाम भी धीरे-धीरे ही कम किये जायेंगे। इसलिए एक्साइज ड्यूटी में की गई इस कमी का पूरा-पूरा लाभ पाने के लिए अभी लंबा इंतजार करना पड़ सकता है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। सरकार ने एक्साइज ड्यूटी में कमी करने का एलान करने के साथ ही रात के 12 बजे से इस कमी का पूरा-पूरा लाभ भी देना शुरू कर दिया है। इससे आज से ही लोगों को पेट्रोल-डीजल सस्ता मिलने लगा है। दामों में कमी से लोग निश्चित रूप से खुश हैं, पर पम्प संचालकों की हालत खराब है। इसका कारण यह है कि उन्होंने पेट्रोल और डीजल खरीदा तो महंगे रेट में, लेकिन उसे बेचना सस्ते दामों पर पड़ रहा है। इससे उन्हें तगड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। यही वजह है कि उन्हें कहना पड़ रहा है कि उनका तो दीवाली पर दिवाला ही निकल गया है।
    इसलिए लागू की गई थी वह व्यवस्था
    पेट्रोल पंप संचालकों के अनुसार कम्पनियों द्वारा पेट्रोल और डीजल के प्रतिदिन दाम तय किये जाते हैं। पहले यह होता था कि सरकार द्वारा दाम बढ़ाते ही डीलर्स उसे नए रेट पर बेचकर जमकर मुनाफा कमाते थे। इसलिए यह व्यवस्था लागू कर दी गई थी कि सरकार द्वारा शुल्क या दाम में बढ़ोतरी किये जाने पर भी कम्पनी द्वारा एक ही दिन और एक साथ पूरे-पूरे दाम नहीं बढ़ाये जाते थे बल्कि धीरे-धीरे रोज बढ़ाए जाते थे ताकि डीलरों द्वारा कम दामों पर खरीदा गया पेट्रोल-डीजल जमाखोरी करके अधिक दामों पर ना बेचा जा सके। ठीक इसी तरह की व्यवस्था शुल्क में कटौती पर भी लागू थी। ऐसे में सरकार द्वारा दी गई इस राहत का पूरा-पूरा लाभ उपभोक्ताओं को कई दिन बाद ही मिलने की उम्मीद थी, लेकिन इस बार सरकार ने यह व्यवस्था अचानक बदल दी।

    बैतूल में अब इन दामों पर मिल रहा पेट्रोल-डीजल
    पेट्रोल-डीजल के दाम कम होने का पूरा-पूरा लाभ उपभोक्ताओं को मिलने लगा है। शहर के गंज स्थित अग्रवाल पेट्रोल पंप पर कल पेट्रोल 119.37 रुपये लीटर और डीजल 108.40 रुपये लीटर मिल रहा था। एक्साइज ड्यूटी में कमी के बाद आज पेट्रोल 113.09 रुपये और डीजल 95.90 रुपये लीटर मिल रहा है। अन्य पेट्रोल पंपों पर भी पेट्रोल 5 और डीजल 10 रुपये सस्ता मिलने लगा है। इससे आम लोग खासी राहत महसूस कर रहे हैं। सबसे अधिक राहत किसान महसूस कर रहे हैं जिन्हें अभी डीजल की काफी अधिक जरूरत पड़ रही है।